कोरोना को मात देने में रामबाण साबित होंगे ये घरेलू उपचार, इन चीजों को खाने से करें परहेज

 

योग और प्राणायाम से जानलेवा कोरोना वायरस को मात दी जा सकती है। योगाचार्यों के अनुसार वसंत ऋतु में वात, पित्त, कफ के रोग बढ़ते हैं। कोरोना कफ वाला रोग है। इसलिए ठंडी और तली भुनी चीजें खाने से बचें तो बेहतर है।

इंटरनेशनल नैचुरोपैथी ऑर्गेनाइजेशन के जिलाध्यक्ष नरेंद्र सिंह के अनुसार वसंत ऋतु को रोगकाल माना जाता है। इस मौसम में रोगाणुओं की संख्या बढ़ जाती है। उन्होंने बताया कि लोगों ने तली भुनी और ठंडी चीजों को खाने से परहेज करना चाहिए। आंवला, शहद और अदरक का काढ़ा बनाकर पीने से इसमें काफी लाभ होता है।

योगाचार्य ओमप्रकाश राणा का कहना है कि योग से हर बीमारी को हराया जा सकता है। शरीर से रोग बाहर निकालने के लिए तली भुनी चीजें बंद करने के साथ ही गर्म पानी का सेवन करने की सलाह दी है। उन्होंने बताया कि योग और आहार परिवर्तन से महामारी को भगाया जा सकता है।
उन्होंने बताया कि गिलोय चूर्ण, गिलोय क्वाथ या गोजिवहादि क्वाथ का प्रयोग किया जा सकता है। साथ ही शहद एवं पीपली का चूर्ण मिलाकर प्रयोग करना चाहिए। अश्वगंधा, आंवला, हल्दी, च्यवनप्राश और बच्छ आदि का प्रयोग करने से भी प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। प्राणायाम, अनुलोम विलोम, कपालभाति, भ्रामरी और सूर्य नमस्कार भी रामबाण हैं।

 
 

Related posts

Top