कोरोना के बीच अच्छी खबर: जर्मनी की कंपनी चीन में उत्पादन बंद कर आगरा में बनाएगी जूते

 

जर्मनी की बड़ी जूता कंपनी कासा एवज जिम्ब चीन में उत्पादन बंदकर आगरा में फैक्टरी लगाएगी। चीन में कोरोना संक्रमण और कारोबार के लिए स्थितियां पहले जैसी अनुकूल न रह जाने कारण यह निर्णय लिया गया है। दुनिया भर में जूता निर्यात करने वाली आगरा की शू इंडस्ट्री के लिए मुश्किल भरे वक्त में यह सुखद खबर आई है।

आगरा की जूता कंपनी आई ट्रैक के पास पहले से ही कासा एवज का लाइसेंस है। इसी तरह पेनेसुएला कंपनी को कासा एवज ने चीन के दोंगजुआन में उत्पादन का लाइसेंस दे रखा था। आई ट्रैक इंडस्ट्रीज प्राइवेट लिमिटेड के सीईओ आशीष जैन ने बताया कि चीन से कोरोना का संक्रमण शुरू हुआ। इसके बाद वहां वैश्विक स्तर पर काम करने वाली कंपनियों के लिए पहले जैसी अनुकूल स्थिति नहीं रह गई है।

इस कारण कासा एवज ने उत्पादन शिफ्ट करने का निर्णय लिया है। इस संबंध में प्रदेश के शासन में बात चल रही है। अगर आगरा में सुविधाएं मिली तो जल्द ही जूता उत्पादन की एक और फैक्टरी शुरू कर दी जाएगी। कासा एवज का प्रसिद्ध ब्रांड वॉन वेल्क्स है।

रोजगार के नए अवसर खुलेंगे: चौधरी उदयभान

राज्यमंत्री चौधरी उदयभान सिंह ने कहा कि दुनिया की कंपनियों का चीन से मोहभंग होकर भारत और खासकर उत्तर प्रदेश के आगरा में आना बेहद खुशी की बात है। यहां के युवाओं को इससे रोजगार मिलेगा। आगरा के जूते की धमक दुनिया भर में और बढ़ेगी।

और भी फैक्टरियां आगरा आ सकती हैं: पूरन 

आगरा के जूते की चमक पहले से दुनिया भर में है। जूता इंडस्ट्री के दिग्गज चीन के कंपनी के आगरा में आने को शुभ लक्षण मान रहे हैं। आगरा फुटवियर मैन्यूफैक्चरर्स एंड एक्सपोटर्स चैंबर (एफमैक) के अध्यक्ष पूरन डावर का कहना है कि इससे दुनिया में संदेश जाएगा कि जूते  की फैक्टरी लगाने के लिए आगरा ही सबसे अच्छी जगह है और भी फैक्टरियां आगरा आ सकती हैं। इससे यहां रोजगार सृजन होगा।

 
 

Related posts

Top