शेयर बाजार पर कहर बनकर टूटा कोरोना, सेंसेक्स 2713 अंक लुढ़का

 
  • सोमवार को शेयर बाजार में दूसरी सबसे बड़ी गिरावट दर्ज की गई
  • बंबई स्टॉक एक्सचेंज का संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 2713 अंक लुढ़ गया
  • निफ्टी 756.10 अंक (7.60%) लुढ़ककर 9,199.10 पर बंद हुआ
  • बीएसई पर सभी 30 कंपनियों के शेयर लाल निशान पर बंद हुए

मुंबई
शेयर बाजार पर कोरोना सोमवार को भी कहर बनकर टूटा। दुनियाभर के देशों में वायरस के बढ़ते प्रकोप के बीच बंबई स्टॉक एक्सचेंज (BSE) का सेंसेक्स 2713.41 अंक (7.96%) लुढ़क गया। वहीं, नैशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) का निफ्टी 756.10 अंक (7.60%) लुढ़ककर 9,199.10 पर बंद हुआ। सेंसेक्स में यह एक दिन की दूसरी सबसे बड़ी गिरावट है। 12 मार्च को सेंसेक्स 2,919 अंक लुढ़क गया था।

दिनभर के कारोबार में सेंसेक्स ने 33,103.24 का ऊपरी स्तर तथा 33,103.24 का निचला स्तर छुआ। वहीं, निफ्टी ने 9,602.20 का उच्च स्तर और 9,165.10 का निम्न स्तर छुआ।

बीएसई पर सभी 30 कंपनियों के शेयर लाल निशान पर बंद हुए। वहीं एनएसई पर 49 कंपनियों के शेयरों में बिकवाली तथा एक कंपनी के शेयर में लिवाली दर्ज की गई। एनएसई पर यस बैंक के शेयर में 45% की मजबूती देखी गई। बीएसई पर इंडसइंड बैंक के शेयर में सर्वाधिक 17.50 फीसदी, टाटा स्टील में 11.02 फीसदी, एचडीएफसी में 10.94 फीसदी, एक्सिस बैंक में 10.38 फीसदी तथा आईसीआईसीआई बैंक के शेयर में 9.96 फीसदी की बड़ी गिरावट दर्ज की गई।

वहीं, एनएसई पर इंडसइंड बैंक में सर्वाधिक 18.35 फीसदी, जेएसडब्ल्यू स्टील में 14.82 फीसदी, वेदांता लिमिटेड में 10.89 फीसदी, टाटा स्टील में 10.70 फीसदी तथा आईसीआईसीआई बैंक के शेयर में 10.31 फीसदी की कमजोरी देखी गई।

पिछले सप्ताह भी कोरोना वायरस और कच्चे तेल की कीमतों में भारी गिरावट की वजह से सेंसेक्स में 3,473 अंकों (9.24%) की गिरावट देखी गई थी, जबकि निफ्टी 1,034 (9.41%) लुढ़क गया था। शुक्रवार को शेयर बाजार भारी उतार-चढ़ाव का गवाह रहा था। इंडेक्स में 10% की गिरावट के बाद 12 सालों में पहली बार कारोबार रोकना पड़ा था। हालांकि, कारोबार के अंत में रेकॉर्ड वापसी की थी।

वैश्विक बाजारों में भी गिरावट
कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर कई प्रकार की पाबंदी से वैश्विक आर्थिक मंदी की आशंका में वैश्विक बाजारों में भी गिरावट रही। आनंद राठी शेयर्स ऐंड स्टॉक ब्रोकर के इक्विटी प्रमुख नरेंद्र सोलंकी ने कहा कि अमेरिकी फेडरल रिजर्व के रविवार को अचानक से नीतिगत दर में कटौती के बाद एशिया के अन्य बाजारों में नरमी के साथ घरेलू बाजार शुरुआती कारोबार में गिरावट के साथ खुले। एशिया के अन्य बाजारों में शंघाई 3.40 प्रतिशत, हॉन्गकॉन्ग 4.03 प्रतिशत, सोल 3.19 प्रतिशत तथा टोक्यो 2.46 प्रतिशत नीचे आए। यूरोप के प्रमुख बाजारों में भी शुरुआती कारोबार में 8 प्रतिशत तक की गिरावट दर्ज की गयी।

कच्चा तेल भी टूटा
इस बीच, ब्रेंट क्रूड का वायदा भाव 7.53 प्रतिशत टूटकर 31.30 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया। कोरोना वायरस के कारण दुनिया के विभिन्न देशों में अब तक 6,000 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 1,62,000 संक्रमित हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार भारत में सोमवार को इस वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 110 पहुंच गई है।

(भाषा से इनपुट के साथ)

 
 

Related posts

Top