जिलाधिकारी ने सम्मानित जनपदवासियों से गोवंश के भरण पोषण के लिए  भूसा, हरा चारा, चोकर आदि दान हेतु की भावनात्मक अपील

जिलाधिकारी ने सम्मानित जनपदवासियों से गोवंश के भरण पोषण के लिए  भूसा, हरा चारा, चोकर आदि दान हेतु की भावनात्मक अपील
District Magistrate
  • गोवंश के भरण पोषण के लिए दानकर्ता को सम्मानित कर दिया जायेगा प्रशस्ति पत्र

सहारनपुर [24CN]। जिलाधिकारी श्री अखिलेश सिंह ने जनपदवासियों से अपील की है कि जनपद में संरक्षित किये जा रहे निराश्रित गोवंश के भरण पोषण में सहयोग करते हुए अधिक से अधिक मात्रा में भूसा, हरा चारा, चोकर आदि अपने निकटतम खण्ड विकास अधिकारी/गोवंश आश्रय स्थल पर सम्पर्क कर दान देने का कष्ट करें तथा गोवंश की सेवा कर पुण्य लाभ उठाएं।

जनपद के ऐसे सम्मानित, प्रतिष्ठित, पशु प्रेमी, गोवंश में आस्था रखने वाले नागरिकों से अपील करता हूँ कि यदि आपके पास गोवंश के दान में देने के लिए भूसा, हरा चारा, चोकर आदि की उपलब्धता नहीं है तो आप नकद धनराशि दान के रूप में दान कर सकते है। यह दान अपने निकटतम खण्ड विकास अधिकारी अथवा उपमुख्य पशु चिकित्साधिकारी को देकर रशीद प्राप्त कर सकते है। जो गौ प्रेमी न्यूनतम 10 कुन्तल भूसा अथवा दान में 11 हजार रूपये की धनराशि दान करेंगे उन्हें प्रशासन द्वारा प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया जायेगा।

मण्डलायुक्त द्वारा दिये गये निर्देशों के अनुपालन में प्रत्येक ग्राम प्रधान एवं पंचायत सचिव के माध्यम से प्रति ग्राम पंचायत न्यूनतम 10 कुन्तल भूसा दान स्वरूप ग्राम के सक्षम किसानों के सहयोग से प्राप्त कर निकटतम गोआश्रय स्थल पर संग्रहित करवायें तथा जो ग्राम पंचायत अधिकतम भूसा संरक्षण कराने में सहयोग करें उस ग्राम पंचायत को सम्मानित किया जायेगा।

यदि कोई दानकर्ता आनलाइन दान देना चाहते है या अपना नाम गोपनीय रखना चाहते है तो वह जनपद स्तर पर संचालित खाते में भी सीधे धनराशि हस्तांरित या बैंक के माध्यम से जमा कर सकते है।
बैंक का नाम – एक्सिस बैंक
खाते का नाम – निराश्रित पशु एवं गोवंश आश्रय स्थल
खाता संख्या – 919010045445930
आई0एफ0एस0सी0कोड – UTIB0003398

दानकर्ता द्वारा दान की गयी सामग्री एवं धनराशि का उपयोग केवल निराश्रित गोवंश के भरण पोषण के लिये किया जायेगा।

ज्ञातव्य है कि माननीय मुख्यमंत्री जी की सर्वोच्च प्राथमिकताओं की योजनान्तर्गत जनपद में निराश्रित/बेसहारा गोवंश को संरक्षित कराये जाने हेतु समस्त विकासखण्डों में अस्थाई गोवंश आश्रय स्थलों का संचालन किया जा रहा है। जिसमें जनपद के निराश्रित/बेसहारा गोवंशों को संरक्षित कराया जा रहा है, जिसके लिए समस्त गो आश्रय स्थलों पर संरक्षित गोवंश के भरण पोषण हेतु भूसा एवं हरे चारे की आवश्यता रहती है। माननीय मुख्यमंत्री जी के निर्देशानुसार वर्तमान में भूसे के उत्पादन को दृष्टिगत रखते हुए अपेक्षा की गयी है कि जनता को निराश्रित गोवंश के प्रति जागरूक करते हुए लोगों को दान में भूसा आदि देने हेतु अनुरोध किया जाये।


पत्रकार अप्लाई करे Apply