जिला प्रशासन ने कई नेताओं को उनके घरों में ही किया नजरबंद

सहारनपुर [24CN]। जनपद में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह व प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सहारनपुर आगमन पर काले झंडे दिखाने की घोषणा के चलते जिला प्रशासन ने गुर्जर आर्मी के संस्थापक वीरेंद्र चौधरी व समाजवादी पार्टी के पूर्व महानगर अध्यक्ष फैसल सलमानी समेत कई किसान नेताओं को भी उनके घरों में नजरबंद करके रखा तथा केंद्रीय गृहमंत्री व मुख्यमंत्री का कार्यक्रम समाप्त होने के बाद ही उन्हें रिहा किया गया।

गौरतलब है कि आज केंद्रीय गृह व सहकारिता मंत्री अमित शाह व उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सहारनपुर में मां शाकुम्भरी देवी राजकीय विश्वविद्यालय के शिलान्यास कार्यक्रम में आगमन के चलते प्रदेश सरकार से नाराज चल रहे विभिन्न संगठनों के पदाधिकारियों द्वारा उन्हें काले झंडे दिखाने की घोषणा की गई थी। गुर्जर आर्मी के संस्थापक चौ. वीरेंद्र गुर्जर ने दादरी में सम्राट मिहिर भोज की मूर्ति के अनावरण के दौरान गुर्जर शब्द हटाने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को जिम्मेदार ठहराते हुए काले झंडे दिखाने की घोषणा की थी। जबकि पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा के राष्ट्रीय भगतसिंह वर्मा ने मुख्यमंत्री के आगमन पर उन्हें गन्ना मूल्य भुगतान के सम्बंध में सवाल पूछने की घोषणा की थी जिसके चलते जिला प्रशासन ने आज एक ओर जहां गुर्जर आर्मी के संस्थापक चौ. वीरेंद्र गुर्जर को उनके आवास पर ही नजरबंद कर दिया। वहीं दूसरी ओर समाजवादी पार्टी के पूर्व महानगर अध्यक्ष फैसल सलमानी को भी उनके खान आलमपुरा स्थित आवास पर हाऊस अरेस्ट किया गया था। इसके अलावा प्रदेश प्रदेश मुक्ति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व किसान नेता भगतसिंह वर्मा व प्रदेश महासचिव आसिम मलिक को भी उनके घरों में बंद रखा गया जिन्हें मुख्यमंत्री के वापस लौटने पर ही रिहा किया गया।


पत्रकार अप्लाई करे Apply