महाराष्ट्र Live: नवाब मलिक बोले-महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे होंगे, राज्यपाल ने कल सुबह बुलाई बैठक

 

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद महाराष्ट्र में पूरी राजनीतिक तस्वीर बदलती दिख रही है। कोर्ट ने कहा है कि कल शाम 5 बजे तक बहुमत परीक्षण हो जाना चाहिए। जानिए कोर्ट के फैसले के बाद दिल्ली से महाराष्ट्र तक चल रही सियासी हलचल का हर अपडेट..

कल सुबह आठ बजे विधानसभा का विशेष सत्र

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने बुधवार सुबह आठ बजे विधानसभा का विशेष सत्र बुलाया है। प्रोटेम स्पीकर कालीदास कोलम्बर ने कहा है कि सुबह आठ बजे सभी विधायकों को शपथ दिलाई जाएगी।

महाराष्ट्र की जनता की विजय : नवाब मलिक

एनसीपी नेता नवाब मलिक ने कहा, एनसीपी, कांग्रेस और शिव सेना ने उद्धव ठाकरे को अपना नेता चुना है। वह महाराष्ट्र के अगले मुख्यमंत्री होंगे। एनसीपी के नवाब मलिक की प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि भाजपा के पास बहुमत नहीं था। घोड़ा बाजार कर के दावा करके भाजपा ने यह खेल किया था। मगर सर्वोच्च अदालत ने प्रोटेम स्पीकर नियुक्त कर तुरंत शक्ति परीक्षण का आदेश दिया। इसके बाद ही देवेंद्र फडणवीस ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने का फैसला किया। यह महाराष्ट्र की जनता की विजय है। उन्होंने कहा कि भाजपा घमंड से भरी हुई है।

कार्यवाहक सीएम बने रहेंगे फडणवीस

देवेंद्र फडणवीस राज्य में नया मुख्यमंत्री बनने तक कार्यवाहक मुख्यमंत्री के तौर पर कामकाज संभालते रहेंगे। उन्होंने खुद ट्वीट कर यह जानकारी दी।

Submitted my resignation as Maharashtra CM to Hon Governor Bhagat Singh Koshyari ji.
Hon Governor asked me to function as caretaker CM till alternative arrangements pic.twitter.com/TI7ER3iBkv

— Devendra Fadnavis (@Dev_Fadnavis) November 26, 2019

भाजपा के कालिदास कोलम्बर प्रोटेम स्पीकर नियुक्त

भाजपा के कालिदास कोलम्बर को प्रोटेम स्पीकर नियुक्त किया गया है। वह जल्द ही राजभवन में जाकर शपथ लेंगे। उन्होंने कहा कि बुधवार को सत्र की शुरुआत में वह अन्य विधायकों को शपथ दिलवाएंगे।

कांग्रेस नेता मुंबई रवाना 

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता केसी वेणुगोपाल और अहमद पटेल मुंबई के लिए रवाना हो चुके हैं।

सोनिया ने साझा न्यूनतम कार्यक्रम पर सहमति दी 

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शिव सेना, एनसीपी और कांग्रेस गठबंधन के साझा न्यूनतम कार्यक्रम पर सहमति दे दी है। आज संयुक्त बैठक के बाद इस कार्यक्रम को सार्वजनिक किया जाएगा।

Sources: Congress President Sonia Gandhi has given her consent to the Common Minimum Program(CMP) of the three parties(Shiv Sena-NCP-Congress), CMP to be released after the joint meeting today.Modalities have been finalized between the alliance parties pic.twitter.com/F3UeqHrBY1

— ANI (@ANI) November 26, 2019

राज्यपाल अपनी आरएसएस-भाजपा घड़ी उतारें : कांग्रेस 

कांग्रेस ने कहा है कि महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को अपनी आरएसएस-भाजपा घड़ी को उतारकर ‘महा विकास अघाड़ी’ गठबंधन को सरकार बनाने के लिए बुलाना चाहिए।

उद्धव ठाकरे का नेता चुनना तय 

शिव सेना के वरिष्ठ नेता ने बताया है कि एनसीपी, कांग्रेस और शिव सेना के गठबंधन ने उद्धव ठाकरे को अपना नेता चुना है। वह महाराष्ट्र में सरकार बनाने का दावा करेंगे।

सीएम पद देने वाली पार्टी के साथ जाने को तैयार थी शिव सेना 

देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि शिव सेना ने हमें पहले ही कहा था कि जो भी पार्टी उन्हें सीएम पद देने को राजी होगी, हम उसके साथ चले जाएंगे।

फडणवीस का इस्तीफा

देवेंद्र फडणवीस ने महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मिलकर अपना इस्तीफा सौंप दिया है।

Mumbai: Devendra Fadnavis submits his resignation to Governor Bhagat Singh Koshyari #Maharashtra. pic.twitter.com/0oGLYJ7qrN

— ANI (@ANI) November 26, 2019

उद्धव को सरकार बनाने का न्योता मिले : चव्हाण

कांग्रेस के पृथ्वीराज चव्हाण ने महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए उद्धव ठाकरे को तुरंत आमंत्रित करने की मांग की है।

आज शाम शिव सेना, एनसीपी और कांग्रेस की बैठक

कांग्रेस के केसी वेणुगोपाल ने कहा कि आज शाम तीनों दलों की एक बैठक होगी और उसके बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस होगी। बैठक में संयुक्त रूप से विधायक दल का नेता चुना जाएगा। इस बैठक में उद्धव ठाकरे को नेता चुना जा सकता है।

कांग्रेस ने मोदी और शाह से जवाब मांगा 

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह पर निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि ‘जनमत’ को अगुवा करने वालों के ‘अल्पमत’ की पोल खुल ही गई। अब साफ़ है कि भाजपा में चाणक्यनीति के मायने प्रजातंत्र का अपहरण है। देवेंद्र फड़नवीस व अजित पवार को महाराष्ट्र की जनता से माफ़ी मांगनी चाहिए।
सुरजेवाला ने आगे कहा कि उनकी सरकार झूठ व दलबदल पर आधारित थी जो ताश के पतों सी गिर गई। आज का दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व गृह मंत्री अमित शाह की जबाबदेही भी सुनिश्चित करने का है।

भोर की भूल ने देश को शर्मिंदा किया : अखिलेश 

सपा नेता अखिलेश यादव ने कहा है कि आज संविधान दिवस पर संविधान को मानने वालों की जीत हुई है और नकारने वालों की करारी हार हुई है।

आज संविधान दिवस पर संविधान को मानने वालों की जीत हुई है और नकारने वालों की करारी हार.

विशेष सांविधानिक शक्ति के दुरुपयोग के लिए नैतिक ज़िम्मेदारी लेते हुए किसी और को भी इस्तीफ़ा दे देना चाहिए, जिनकी ‘भोर की भूल’ ने आज देश को सारे विश्व के सामने शर्मिंदा किया है. #NoMoreBJP

— Akhilesh Yadav (@yadavakhilesh) November 26, 2019

देवेंद्र फडणवीस राज्यपाल को इस्तीफा सौंपने के लिए राजभवन पहुंचे

Mumbai: Devendra Fadnavis reaches Raj Bhawan to submit his resignation #Maharashtra. pic.twitter.com/2lzXwAHxXI

— ANI (@ANI) November 26, 2019

कांग्रेस ने इसे संवैधानिक लोकतंत्र की जीत बताया

कांग्रेस के केसी वेणुगोपाल ने देवेंद्र फडणवीस और अजित पवार के इस्तीफे पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए इसे संवैधानिक लोकतंत्र की जीत बताया है। उन्होंने कहा कि उन्हें लग रहा था कि हॉर्स ट्रेडिंग से सरकार बना लेंगे। यह सिर्फ देवेंद्र फडणवीस की विफलता नहीं है लेकिन दिल्ली में बैठे लोगों के मुंह पर तमाचा है। कांग्रेस ने कहा है कि देवेंद्र फडणवीस और अजित पवार को महाराष्ट्र के लोगों से माफी मांगनी चाहिए।

शिव सेना का हिंदुत्व सोनिया जी के चरणों में नतमस्तक

फडणवीस ने कहा कि प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लागू किया गया था। इसके बाद तीनों पार्टियां 10 दिन तक न्यूनतम साझा कार्यक्रम तक तय नहीं कर पाए। उनका मकसद सिर्फ भाजपा को हटाकर सत्ता पाना है। उन्होंने कहा कि शिव सेना का हिंदुत्व अब सोनिया जी के चरणों में नतमस्तक है। फडणवीस ने कहा कि अजित पवार ने बताया है कि निजी कारणों की वजह से उन्होंने इस्तीफा दिया है।

Devendra Fadnavis: The hunger for power is such that now Shiv Sena leaders are even willing to ally with Sonia Gandhi. #Maharashtra pic.twitter.com/8k4IKb9JHU

— ANI (@ANI) November 26, 2019

विपक्ष ने पूरा अस्तबल खरीदा 

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने होर्स ट्रेडिंग के आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि भाजपा इसमें विश्वास नहीं रखती। फडणवीस ने कहा कि हम पर घोड़ा बाजार में खरीददारी की आरोप लगता है, लेकिन उन्होंने तो पूरा अस्तबल ही खरीद लिया।

राज्यपाल से मिलकर इस्तीफा सौंपेंगे फडणवीस

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने बहुमत परीक्षण के 24 घंटे पहले ही अपना इस्तीफा देने का ऐलान कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद फडणवीस ने मंगलवार दोपहर को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर यह ऐलान किया। उन्होंने कहा कि राज्यपाल से मिलकर वह उन्हें अपना इस्तीफा सौपेंगे।

तीन पहियों वाली सरकार नहीं चलेगी

फडणवीस ने कहा कि मुझे लगता है कि तीन पार्टियों वाली सरकार का भविष्य लंबा नहीं है। तीन पार्टियों की सरकार अपने बोझ तले दबेगी। तीनों पहियों तीन दिशाओं में चलेंगे और महाराष्ट्र जैसा अगड़ा राज्य की क्या परिस्थिति होगी इसके बारे में मैं कह नहीं सकता। हम विपक्ष में बैठकर जनता के लिए काम करेंगे। गरीबों की आवाज को सरकार तक पहुंचाएंगे।

कांग्रेस और शिव सेना अलग-अलग विचारधारा की पार्टी 

देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि शिव सेना और कांग्रेस अलग—अलग विचारधारा की पार्टियां हैं। विपरीत विचारधारा के बाद भी ये तीनों दल सिर्फ सत्ता के लिए साथ आए। जनता ने भाजपा को जनादेश दिया था। मगर हमारे पास बहुमत नहीं है, इसलिए अब हम विपक्ष में बैठेंगे और नई सरकार को काम करना सिखाएंगे।

शिवसेना ने पहले दिन से मोलभाव किया : फडणवीस

फडणवीस ने कहा कि चुनाव परिणाम देखने के बाद से यह स्पष्ट हो गया था कि भाजपा अकेले सरकार बनाने की स्थिति में नहीं है। इसके बाद से ही शिव सेना ने मोल भाव करना शुरू कर दिया था।

हमारा स्ट्राइक रेट 60 फीसदी और शिव सेना का 40 प्रतिशत : फडणवीस

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर शिव सेना पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र की जनता ने हमारे शिवसेना भाजपा गठबंधन को दिल खोलकर मतदान दिया। भाजपा को संपूर्ण जनादेश देकर सबसे बड़ी पार्टी बनाया। हमने शिव सेना के साथ ही चुनाव लड़ा। लेकिन यह भाजपा का जनादेश इसलिए कह रहा हूं क्योंकि शिव सेना का 40 फीसदी का स्ट्राइक रेट था और हमारा 60 फीसदी। वो जनादेश गठबंधन को था, लेकिन भाजपा को ज्यादा।

अजित पवार हमारे साथ, उद्धव होंगे अगले सीएम: राउत

शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत ने कहा कि अजित पवार हमारे साथ हैं। अजित पवार से अच्छा संवाद चल रहा है। उन्होंने कहा कि उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र के अगले मुख्यमंत्री होंगे, पूरे 5 साल हमारी सरकार चलेगी।

अजित पवार का इस्तीफा

महाराष्ट्र में चल रहे सियासी ड्रामे के बीच एक बड़ी खबर सामने आ रही है। टीवी रिपोर्ट्स के मुताबिक अजित पवार ने उप-मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। वहीं माना जा रहा है कि मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस भी दोपहर 3.30 बजे इस्तीफा दे सकते हैं। दोपहर 3.30 बजे मुख्यमंत्री फडणवीस मीडिया को संबोधित कर सकते हैं। अजित पवार को लेकर आज सुबह से ही अटकलों का बाजार गर्म चल रहा था। अजित पवार से मिलने के लिए पहले बहन सुप्रिया सुले पहुंची थी। जिन्होंने उन्हें मनाने की कोशिश की। इसके बाद एनसीपी अध्यक्ष और चाचा शरद पवार खुद अजित से मिले। जिसमें उन्होंने कहा कि आपको माफ कर दिया है पार्टी में वापस लौट आइए। हालांकि  पवार ने अजित पर तल्ख होते हुए कहा कि इस्तीफा दो या कल विधानसभा से बाहर रहो। अजित ने बहुमत परीक्षण से पहले सरकार को झटका देते हुए इस्तीफा दिया है।

Sources: Ajit Pawar resigns as the Deputy Chief Minister of #Maharashtra. pic.twitter.com/S8KcDQ6MQV

— ANI (@ANI) November 26, 2019

यह भी पढ़ें: महाराष्ट्र: अजित पवार से मिले शरद पवार, बोले- इस्तीफा दो या कल विधानसभा मत आना

बहुमत साबित करने को तैयार-भाजपा

महाराष्ट्र में विधायकों के द्वारा होटल में शपथ लेने पर भाजपा के वरिष्ठ नेता राम माधव ने कहा कि बहुमत सदन में साबित करना होता है, होटल में नहीं। उन्होंने कहा कि फडणवीस सरकार अपना बहुमत साबित करने में कामयाब होगी।

शिवसेना-एनसीपी और कांग्रेस के विधायकों की बैठक

मुंबई के सोफीटेल होटल में एनसीपी-शिवसेना की बैठक हुई। जिसमें शरद पवार, उद्धव ठाकरे, सुप्रिया सुले, आदित्य ठाकरे, प्रफुल्ल पटेल समेत कई नेता मौजूद रहे। बताया जा रहा है कि विधायक दल का नेता चुनने के लिए आज शाम 5 बजे एनसीपी-शिवसेना-कांग्रेस की बैठक बुलाई गई है।

अजित पवार और सुप्रिया सुले की हुई मुलाकात

उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने मंगलवार सुबह एनसीपी नेताओं से मुलाकात की, जिसमें प्रफुल्ल पटेल, सुप्रिया सुले जैसे नेता शामिल रहे। उसके बाद अजित पवार मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के आवास पर पहुंचे। देवेंद्र फडणवीस से मुलाकात करने के बाद अजित पवार अपने भाई श्रीनिवास पवार के घर पहुंचे हैं। इस दौरान जब अजित पवार से इस्तीफे को लेकर पत्रकारों ने सवाल किया गया तो उन्होंने सिर्फ इतना ही कहा कि उनका पीछा नहीं करें।

सोनिया ने जीत का विश्वास जताया

महाराष्ट्र में शक्ति प्रदर्शन जीतने पर आश्वस्त होने के सवाल पर सोनिया गांधी ने कहा  बिल्कुल। वहीं पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि महाराष्ट्र में केंद्र का जो रवैया था, उसे देखकर यह बात निश्चित नहीं है कि मौजूदा शासन के हाथ में संवैधानिक मानदंड सुरक्षित है। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरेजवाला ने उच्चतम न्यायालय के आदेश को लोकतंत्र की जीत बताते हुए इसकी प्रशंसा की और कहा कि यह भाजपा-अजित पवार की अवैध सरकार पर एक तमाचा है। हालांकि भाजपा के प्रवक्ता नलिन कोहली ने अदालत का फैसला पार्टी के लिये झटका साबित होने की बात को खारिज करते हुए कहा कि संविधान के मामले में कोई भी न्यायिक फैसला किसी राजनीतिक दल के लिये झटका नहीं हो सकता है। न्यायिक आदेश संविधान को मजबूत बनाते हैं।

बाला साहब थोराट कांग्रेस विधायक दल का नेता

अब महाराष्ट्र में हलचल और तेज हो गई है। सभी प्रमुख पार्टियों में बैठकों का दौर जारी है। कांग्रेस ने बाला साहब थोराट को विधायक दल का नेता चुना है, वहीं एनसीपी चीफ शरद पवार होटल में अपनी पार्टी के विधायकों से मिलने पहुंचे हैं। बीजेपी ने भी आज रात 9 बजे मुंबई के गरवारे क्लब में पार्टी विधायकों को पहुंचने का आदेश दिया है।

बहुमत साबित करने के लिए तैयार हैं : भाजपा 

 
 

Related posts

Top