कोरोना का कहर, इटली में लाशों का अंबार, बुलानी पड़ी सेना

 
दुनियाभर के सैलानियों का पसंदीदा ठिकाना रहा इटली आज कोरोना वायरस के कहर का सामना कर रहा है। ‘सिटी ऑफ लव’ कहा जाने वाला वेनिस शहर आज वीरान है। पूरे देश में लॉक डाउन है। हर तरफ मातम का माहौल है। यही नहीं इटली ने कोरोना से होने वाली मौतों के मामले में अब इस बीमारी के गढ़ रहे चीन को भी पीछे छोड़ दिया है। हालत यह है कि लाशों को दफनाने के लिए सेना को बुलाना पड़ा है।
बेरगामो में लाशों का अंबार लगा

NBT

इटली में बुधवार को 475 लोगों की मौत हो गई जिससे लाशों का अंबार लग गया। सबसे ज्‍यादा प्रभावित शहर बेरगामो शहर में हालत यह हो गई कि लोगों की लाशों को दफनाने में समस्‍या आने लगी। इस संकट के लिए सेना को बुलाया गया। सेना के वाहनों में दर्जनों लाशों को रखा गया और फिर उन्‍हें दफनाने के लिए शहर से बाहर अन्‍य जगहों पर ले जाया गया।

इटली ने चीन को पीछे छोड़ा

NBT

इटली के बेहद धनी बेरगामो शहर में बुधवार को कोरोना वायरस से कम से कम 93 लोगों की मौत हुई थी। यह सिलसिला अभी जारी है। गुरुवार को इटली में 427 लोगों की कोरोना से मौत हो गई। इससे मरने वालों का आंकड़ा 3405 हो गया है। बेरगामो के मेयर गिओर्गिओ गोरी ने चेतावनी दी है कि मरने वालों का ठीक-ठीक आंकड़ा और ज्‍यादा हो सकता है क्‍योंकि कई लोगों की जांच ही नहीं की गई।

24 घंटे दफनाए जा रहे शव

NBT

बेरगामो में लाशों को दफनाने का काम 24 घंटे चल रहा है। यहां हर दिन 25 लोगों को ही दफनाया जा सकता है। माना जा रहा है कि इसी वजह से कई लाशों को सेना के ट्रकों पर लादकर शहर से बाहर मोदेना, अक्‍वी टेर्मे, दोमोदोस्‍सोला, परमा, पिसेंजा और अन्‍य शहरों में ले जाया गया है। जब इन शवों का जला दिया जायेगा तो उनके अवशेषों को बेरगामो लाया जाएगा। लाशों को दफनाने का सिलसिला लगतार जारी है।

अखबारों में 10 पन्‍ने के शोक संदेश

NBT

इटली में लाशें इ‍तनी ज्‍यादा हैं कि उनका अंतिम संस्‍कार नहीं हो पा रहा है। इसी वजह से उन्‍हें चर्च के अंदर बने कब्रगाह में ले जाया गया है। लाशों के ताबूतों से दो अस्‍पताल भरे हुए हैं। जिन लोगों की मौत हुई है, उनके करीबियों को जाने की अनुमति दी जा रही है लेकिन बहुत ही कम संख्‍या में और बहुत दूरी से ताकि वायरस का संक्रमण न फैले। अखबारों में 10-10 पन्‍ने के शोक संदेश दिए जा रहे हैं।

 
 
Top