दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे: 31 दिसम्बर 2020 तक पूरा हो सकता है निर्माण 

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्राथमिकता में शामिल दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे निर्माण की तिथि पर असमंजस है। एक आरटीआई के जवाब में एनएचएआई ने अब इसके निर्माण कार्य पूरा होने का समय दिसम्बर-2020 बताया है।  इस प्रोजेक्ट को पूरा करने में कार्यदायी संस्था जीआर इंफ्रा के पसीने छूट गए है।

एनएचएआई से राष्ट्रीय लोकदल युवा के लीगल कन्वेनर बदर महमूद ने दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे पर आरटीआई से जवाब मांगा था। एनएचएआई ने जवाब में बताया कि चार भागों में इस एक्सप्रेस-वे का निर्माण कराया जा रहा है। इसके दो भाग पूरे चुके है।
वहीं, पैकेज-चार ( मेरठ से डासना) का कार्य 67.50 प्रतिशत और पैकेज – दो (यूपी गेट से डासना) का कार्य 77.30 प्रतिशत पूरा हो चुका है। वहीं, एक्सप्रेस-वे पर टोल लगने के सवाल पर जवाब मिला है कि अभी तक टोल के रेट तय नही हुए है। इसके अलावा कुल अभी तक पैकेज पर खर्च होने वाले बजट को भी बताया गया है।

पैकेज प्रथम – निजामुद्दीन से यूपी गेट कुल बजट – 841.50 करोड़ अभी तक खर्च- 470.32 करोड़
पैकेज द्वितीय- यूपी गेट से डासना कुल बजट – 1989 करोड़ अभी तक खर्च- 522 करोड़
पैकेज तृतीय- डासना से हापुड़ बाईपास कुल बजट – 1057 करोड़ अभी तक खर्च- 490 करोड़ (इस पैकेज में भी चार हेक्टेयर जमीन अधिग्रहण करना पड़ा)
पैकेज  चतुर्थ- डासना से मेरठ कुल बजट – 1087 करोड़ अभी तक खर्च- 569.40 (इस पैकेज में 313.61 हेक्टेयर का जमीन अधिग्रहण भी करना पड़ा)

 
 

Related posts

Top