भाकियू अध्यक्ष का ऐलान, नहीं देंगे तोप, प्रशासन ने की मनमानी तो करेंगे आंदोलन

 

मुजफ्फरनगर जनपद में पुरकाजी क्षेत्र के हरिनगर में किसान के खेत से मिली तोप को लेकर भाकियू और प्रशासन अभी भी आमने सामने है। भाकियू ने इसे सूली वाला बाग में रखा हुआ है। यहां पर कार्यकर्ता टैंट लगा कर इसकी चौकसी कर रहे हैं, वहीं पुलिस बल भी तैनात है। मंगलवार को भाकियू अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत ने भी मौके पर पहुंच कर तोप पर मार्ल्यापण कर सलामी दी। उन्होंने कहा कि यह तोप शहीदों के सम्मान का प्रतीक है।

वहीं भाकियू अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत ने कहा कि अगर प्रशासन तोप को सूली वाला बाग से ले जाता है, तो यह भाकियू और शहीदों का अपमान होगा। उन्होंने कहा कि प्रशासन तोप को कहां पर ले जाना चाहता है पता नहीं। लेकिन सूली वाला बाग एक प्रसिद्ध जगह है। अगर तोप सूली वाला बाग पर रहेगी, तो तोप की शोभा बढ़ेगी और यहां से गुजरकर उत्तराखंड के हरिद्वार और देहरादून आदि जगहों पर जाने वाले कई प्रदेशों के पर्यटक यहां पर रुककर तोप को सलामी देंगे जिससे शहीदों का सम्मान होगा। उन्होंने कहा कि प्रशासन को छोटी सी बात पर जिद ना करके तोप को सूली वाला बाग पर लगाकर इसकी शोभा बढ़ानी चाहिए। अगर प्रशासन को जिद है तो 10-20 साल बाद तोप को ले जाकर वहां रख दे जहां से तोप की मांग आ रही है।

उन्होंने भाकियू प्रदेश महासचिव एवं नगर चेयरमैन जहीर फारूकी की तारीफ करते हुए कहा कि युवा हैं और इनके दिल मे देश भक्ति का जुनून है। तोप को सूली वाला बाग पर सजाकर हर वर्ष 26 जनवरी और 15 अगस्त को यहां पर ध्वजारोहण कर तोप पर माल्यार्पण कर सलामी दी जानी चाहिए। उन्होंने प्रशासन से मांग की कि इतिहास से छेड़छाड़ ना की जाए और डीएम को चाहिए कि मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर सूली वाला बाग को पर्यटक स्थल विकसित कराने में सहयोग करें।

 
 

Related posts

Top