अमेरिका ने अपने नागरिकों को भारत की यात्रा नहीं करने की दी सलाह

अमेरिका ने अपने नागरिकों को भारत की यात्रा नहीं करने की दी सलाह
US Coronavirus
  • Coronavirus (Covid-19): अमेरिका के सीडीसी ने कहा है कि भारत में लगातार बढ़ रहे मामलों को देखते हुए सभी को भारत की यात्रा से बचना चाहिए. यहां तक कि जिन लोगों को वैक्सीन लग चुकी है उन्हें भी नए वैरिएंट से खतरा हो सकता है और उनसे फैलने का खतरा है.

नई दिल्ली : भारत में तेजी से बढ़ रहे कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों को देखते हुए अमेरिका में अपने नागरिकों को भारत की यात्रा नहीं करने की सलाह दी है. अमेरिका के सीडीसी (Centers For Disease Control And Prevention) ने कहा है कि भारत में लगातार बढ़ रहे मामलों को देखते हुए सभी को भारत की यात्रा से बचना चाहिए. यहां तक कि जिन लोगों को वैक्सीन लग चुकी है उन्हें भी नए वैरिएंट से खतरा हो सकता है और उनसे फैलने का खतरा है. हालांकि अगर भारत की यात्रा पर जाना ही है तो सफर से पहले वैक्सीन लगवाकर ही जाएं.

बांग्लादेश में हर 14 मिनट में एक संक्रमित व्यक्ति की मौत

बांग्लादेश में जहां कोरोना से मरने वालों की कुल संख्या 10,385 है, वहीं पिछले तीन दिनों में हर 14 मिनट में एक संक्रमित व्यक्ति की मौत हुई है. रविवार को देश में 18 मार्च, 2020 के बाद पहली बार सबसे ज्यादा मरने वाले लोगों की संख्या 102 दर्ज की गई. शनिवार और शुक्रवार को दोनों दिन 101 नई मौतें हुईं. मरने वालों में 59 पुरुष और 43 महिलाएं थीं. उनमें से 63 लोगों की उम्र 60 वर्ष से अधिक थी, 23 की आयु सीमा 51-60 के बीच थी. 14 की आयु 41-50 के बीच थी और दो लोगों की उम्र 31-40 के बीच थी. पीड़ितों में से 68 ढाका से, 22 चटगांव से, म्यामांरसिंह और बारिसल से चार, राजशाही में तीन और खुलना से थे.

दिल्ली में लॉकडाउन का ऐलान
बता दें कि कोरोना के बढ़ते मामलों के बाद देश की राजधानी दिल्ली में राज्य सरकार ने संपूर्ण लॉकडाउन का ऐलान कर दिया है. इस घोषणा के बाद दिल्ली-एनसीआर के तमाम बस अड्डों और रेलवे स्टेशनों पर एक बार फिर दूरदराज से इन शहर आए मजदूरों की भीड़ लग गई है. लोग अपने घरों की ओर जल्दी से जल्दी जाना चाहते है, पलायन कर रहे मजदूरों का कहना है कि उनको सरकारों पर भरोसा नहीं. जो सरकार एक साल बाद भी कोरोना के लिए तैयारी नही कर पाई आखिर वो कैसे हमारा ख्याल रखेगी. मजदूरों के भीड़ की तस्वीरें एक बार फिर से पिछले साल लॉकडाउन के दौरान मजदूरों के पलायन की याद दिलाती हैं.


पत्रकार अप्लाई करे Apply