सहारनपुर में मिले कोरोना के 10 नए संक्रमित, स्वास्थ्य विभाग में मचा हड़कंप, 203 हुई मरीजों की संख्या

 

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले में शनिवार को कोरोना के 10 नए मामले सामने आने के बाद चिकित्सा विभाग में हड़कंप मच गया। इसके साथ ही सहारनपुर में कोरोना के मरीजों की संख्या 203 पर पहुंच गई। हालांकि 184 मरीज ठीक होकर घर लौट चुके हैं और फिलहाल 19 पॉजिटिव मरीज उपचाराधीन हैं।

नोएडा लैब से शनिवार को दो चरणों में जारी की गई सूची में कोरोना के 10 नए मामले सामने आए। इसमें आठ पॉजिटिव देवबंद के हैं, जो मुंबई और इंदौर से आए थे। इन सभी को जामिया तिबिया कॉलेज में क्वारंटीन किया गया था। एक मामला नागल के खेड़ामुगल का है। यहां पहला मामला पॉजिटिव मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम मौके पर पहुंची और मरीज के संपर्क में आए 18 लोगों को क्वारंटीन करने के साथ ही उनके सैंपल लिए। मोहल्ले को सील कर दिया गया। एक मामला चिलकाना के गांव मनोहरपुर का है।

सीएचसी सरसावा प्रभारी डॉ. राजेश कुमार शर्मा ने बताया कि पॉजिटिव आया मरीज गांव मनोहरपुर का है, जो 11 मई को मुंबई से आया था। 13 मई को राधास्वामी सेंटर ठहरा था, 14 मई को डीसी जैन इंटर कॉलेज के क्वारंटीन सेंटर में रखा गया था। पॉजिटिव आए सभी मरीजों को क्वारंटीन सेंटरों से कोविड-19 सेंटर में शिफ्ट किया गया है।

पुन: शुरू किया क्वारंटीन सेंटर 
चिलकाना में डीटीएस डिग्री कॉलेज में बने क्वांरटीन सेंटर को एक हफ्ते बाद फिर चालू किया गया है। शनिवार को इस सेंटर पर जोधपुर से आए 184 लोगों को रखा गया। ये सभी ब्लॉक सरसावा के विभिन्न गांव के रहने वाले हैं। डॉ. राजीव सैनी ने बताया कि सभी के सैंपल लेकर भेजे जाएंगे। क्वारंटीन में रखे गए लोगों के खाना पानी और सैनिटाइजेशन की व्यवस्था की गई है। बड़गांव के पैरामाउंट पब्लिक स्कूल में बनाए गए क्वारंटीन सेंटर में प्रवासी मजदूरों को ग्राम प्रधान सुखाल शर्मा, चंदपुर के ग्राम प्रधान रविंद्र सिंह, भाजपा नेता ऋषिपाल राणा, एनसीसी कैडेट हिमांशु शर्मा ने भोजन आदि कराया। करीब बीस ऐसे मजदूरों को एक स्कूल में क्वारंटीन किया, जो साइकिलों से अपने गंतव्यों को जा रहे थे।

 
 

Related posts

Top