दिल्ली को खालिस्तान बनाने का वीडियो जारी, भड़के सिख

 

नई दिल्ली: पंजाब को भारत से अलग कराने की मुहिम चला रहे अमरीका के संगठन सिख्स फॉर जस्टिस ने 19 जुलाई को दिल्ली में जनमत संग्रह करवाने का ऐलान किया है। इसके लिए बाकायदा भारत सरकार द्वारा आतंकवादी घोषित किए गए सिख्स फॉर जस्टिस के जनरल कौंसिल गुरपतवंत सिंह पन्नू ने एक वीडियो जारी किया है।

वीडियो में दिल्ली को खालिस्तान बनाने का हवाला देते हुए गुरुद्वारा शीशगंज साहिब और गुरुद्वारा बंगला साहिब में रैफरैंडम- 2020 के लिए अरदास करने का ऐलान किया है।  वीडियो को लेकर दिल्ली के सिखों में भारी गुस्सा है। सिख संगठनों ने इसको लेकर कड़ा ऐतराज जताया है। सिखों की अगुवाई वाली धार्मिक पार्टी जागो पार्टी के प्रमुख मंजीत सिंह जी.के. ने पन्नू को पाकिस्तान की खुफिया एजैंसी आई.एस.आई. का एजैंट बताते हुए वीरवार को पाकिस्तान दूतावास के बाहर प्रदर्शन करने का ऐलान किया है। जी.के. का कहना है कि पन्नू को अगर खालिस्तान लेना है या पंजाब को आजाद कराना है तो उसको भारत में आकर भारतीय संविधान के दायरे में रहकर खालिस्तान की लड़ाई लडऩी चाहिए।

दिल्ली कमेटी व अकाली दल से कोई लेना-देना नहीं : कमेटी
दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के महासचिव हरमीत सिंह कालका ने कहा कि उनकी पार्टी शिरोमणि अकाली दल एवं दिल्ली कमेटी ऐसे किसी भी संगठन को समर्थन नहीं करती है और न ही करेगी। अकाली दल एवं कमेटी से इनका कोई लेना-देना भी नहीं है।

ऐसा कोई सोचे भी नहीं : भाजपा
भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय मंत्री आर.पी. सिंह ने पन्नू के पोस्टर को ट्वीट करते हुए दिल्ली कमेटी को इस मसले पर अपना पक्ष साफ करने की अपील की है। उन्होंने कहा कि वह खुद भी दिल्ली के सभी गुरुद्वारों पर निगरानी रखेंगे। कोई भी संगठन दिल्ली में खालिस्तान बनाने के बारे में सोचे भी नहीं।

 
 

Related posts

Top