हस्तिनापुर: महाराज की समाधि बनाने को लेकर संतों के दो पक्ष आपस में भिड़े, भारी पुलिस बल मौके पर

 

हस्तिनापुर में बुधवार को महाराज की समाधि बनाने को लेकर संतों के दो पक्ष आमने सामने आ गए। दोनों पक्षों में जमकर कहासुनी हुई। वहीं दूसरे पक्ष ने महाराज नंदू गिरी का पार्थिव शरीर मैदान में ही रख दिया। मृतक पक्ष के साधु समाधि बनाने पर अड़े हुए हैं। वहीं हंगामे और विवाद की सूचना पर भारी पुलिस बल मौके पर पहुंचा और मामले की जानकारी ली।

जानकारी के अनुसार अकबरपुर थानाक्षेत्र के इच्छाबाद में स्थित प्राचीन माभद्रकाली मंदिर में लगभग एक साल से भी ज्यादा समय से भद्रकाली मंदिर की गद्दी को लेकर रमन गिरी महाराज व रामा पूरी महाराज पक्षों में विवाद चल रहा था।

बुधवार को गिरी पक्ष के महाराज नंदू गिरी ने अपना शरीर त्याग किया तो उनके अनुयायी पक्ष के संत मंदिर परिसर में समाधि के लिए पहुंच गए। इस दौरान वहां मौजूद रामा पूरी पक्ष ने इसका विरोध कर दिया। लेकिन दूसरा पक्ष मंदिर परिसर में ही समाधि बनाने पर अड़े हुए हैं।

बताया गया कि मंदिर की कमेटी पहले ही उपजिलाधिकारी ने भंग कर दी थी और इसका रिलीवर खंड विकास अधिकारी को बनाया गया था।

वहीं आज दोनों पक्षों के संतों में हुए हंगामे और विवाद की सूचना पर भारी पुलिस फोर्स मंदिर परिसर में पहुंच गई। वहीं गिरी पक्ष के संतों ने महाराज नंदू गिरी का पार्थिव शरीर अभी भी मैदान में रखा हुआ है। पुलिस मामले का कोई हल नहीं निकला सकी है। आला अधिकारियों के निर्देश का इंतजार किया जा रहा है।

 

 
 

Related posts

Top