कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी का प्रयागराज दौरा आज, चार लोगों की हत्या के बाद पीड़ित परिवार से मिलेंगी

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी का प्रयागराज दौरा आज, चार लोगों की हत्या के बाद पीड़ित परिवार से मिलेंगी
  • कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा शुक्रवार को दिन में करीब तीन बजे अपने पुरखों की धरती प्रयागराज पहुँचेंगी। प्रयागराज पहुंचने के बाद वह सोरांव विधानसभा के गोहरी गांव में फूलचंद के स्वजन से भेंट करेंगी।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर बेहद गंभीर हो चुकीं कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा प्रदेश के हर कोने में अपनी मौजूदगी दर्ज कराने के साथ ही किसी भी पीड़ित परिवार के साथ खड़ी रहने को आतुर हैं। प्रियंका गांधी वाड्रा शुक्रवार को अपने पुरखों की धरती प्रयागराज के दौरे पर रहेंगी। यहां पर प्रियंका गांधी एक ही परिवार के चार लोगों की हत्या से आहत लोगों से भेंट करेंगी।

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा शुक्रवार को दिन में करीब तीन बजे प्रयागराज पहुँचेंगी। प्रयागराज पहुंचने के बाद वह सोरांव विधानसभा के गोहरी गांव में फूलचंद पासी के स्वजन से भेंट करेंगी। मजदूरी करने वाले पासी, उनकी पत्नी, बेटे और बेटी की दबंगों ने मंगलवार देर रात कुल्हाड़ी से प्रहार से निर्मम हत्या की दी थी। इस दौरान नाबालिग से सामूहिक दुष्कर्म भी किया गया। यहां पर स्थानीय दबंगों ने कुछ दिन पहले घर जाकर धमकाया था, फिर भी पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की थी। प्रियंका गाँधी गोहरी पहुँचकर इस नरसंहार में मारे गये लोगों के स्वजन से मिलकर उनका दुख बांटेंगी।

प्रियंका गांधी वाड्रा इससे पहले भी लखीमपुर खीरी में आठ लोगों की हत्या के बाद आगरा में थाना में एक की मौत के बाद उनके परिवार के लोगों से मिली थीं। इतना ही नहीं उन्होंने कांग्रेस की तरफ से पीडि़त परिवार के लोगों को सांत्वना देने के साथ ही आर्थिक सहायता भी उपलब्ध कराई थी। प्रियंका गांधी वाड्रा के आज के प्रयागराज दौरे को लेकर भाजपा के साथ ही अन्य दलों की भी निगाह लगी हुई है।

गौरतलब है कि मंगलवार की रात को प्रयागराज में जमीन की रंजिश में नाबालिग दलित से सामूहिक दुष्कर्म कर पूरे परिवार की कुल्हाड़ी से काटकर हत्या कर दी गई। फाफामऊ थाना क्षेत्र के गांव में इस सनसनीखेज वारदात को अंजाम मंगलवार रात दिया गया। दो दिन तक चारों शव घर में ही पड़े रहे और किसी को इसकी भनक तक नहीं लगी। गुरुवार सुबह इसकी जानकारी मिलने पर ग्रामीणों की भीड़ जुट गई। आइजी, डीएम, एसएसपी समेत अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे। फोरेंसिंक और डाग स्क्वायड की टीम ने जांच पड़ताल की। मामले के राजफाश के लिए पुलिस की चार टीमें बनाई गईं हैं, साथ ही क्राइम ब्रांच और एसटीएफ को भी लगाया गया है। मृतक के भाई की तहरीर पर गांव के 11 लोगों पर मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस ने छह लोगों को हिरासत में लिया है। आइजी डा. राकेश सिंह ने इंस्पेक्टर फाफामऊ रामकेवल पटेल व सिपाही सुशील सिंह को निलंबित कर दिया है।

 


पत्रकार अप्लाई करे Apply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *