प्रधानमंत्री ने सिर्फ ‘हेडलाइन’ दी, प्रवासी मजदूरों के लिए कोई ‘हेल्पलाइन’ नहीं दी: कांग्रेस

 

नई दिल्ली: कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से मंगलवार को की गई 20 लाख करोड़ रुपए के आर्थिक पैकेज की घोषणा के बाद कहा कि मोदी ने मीडिया को सिर्फ ‘हेडलाइन’ दी, लेकिन प्रवासी श्रमिकों के लिए कोई ‘हेल्पलाइन’ नहीं दी और उनमें संवेदनशीलता की कमी देखकर देश निराश हुआ है। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री की घोषणा कोरे पन्ने की तरह है और जब ब्यौरा सामने आएगा तो देश और कांग्रेस प्रतिक्रिया देंगे।

उन्होंने ट्वीट किया,‘अपने घर जा रहे प्रवासी कामगारों की दिल दहला देने वाली मानवीय त्रासदी को करुणा और अपनेपन से देखने तथा मजदूरों की सुरक्षित वापसी की जरूरत है। लाखों प्रवासी श्रमिकों के प्रति आपमें संवेदनशीलता की कमी और उनकी तकलीफों को दूर करने में आपकी नाकामी से भारत बहुत ज्यादा निराश हुआ है।’

PunjabKesari

कांग्रेस प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने दावा किया कि मोदी ने आर्थिक पैकेज का विवरण नहीं बताकर और प्रवासी मजदूरों को उनके घर भेजने पर कुछ नहीं बोलकर देश को निराश किया है। वल्लभ ने कहा,‘प्रधानमंत्री जी ने हेडलाइन दी है, लेकिन कोई हेल्पलाइन नहीं दी। उन्होंने प्रवासी मजदूरों को उनके घर सुरक्षित भेजने और रास्तों में मजदूरों की मौत की हुई घटनाओं पर कुछ भी नहीं कहा। इससे बहुत निराशा हुई है।’ इससे पहले, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा ने प्रधानमंत्री की घोषणा का स्वागत किया, हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि वह अभी इस पैकेज के विवरण की प्रतीक्षा कर रहे हैं।

PunjabKesari

उन्होंने ट्वीट किया, ‘प्रधानमंत्री की ओर से की गई 20 लाख करोड़ रुपये के पैकेज की घोषणा का स्वागत है और हम ब्यौरे की प्रतीक्षा करेंगे। इससे अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने और कर्मचारियों के वेतन देने की तत्काल जरूरत को लेकर सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उपक्रमों में विश्वास पैदा करने में मदद मिलेगी।’ शर्मा ने कहा, ‘आशा करते हैं कि गरीबों, अपनी जीविका खोने वाले प्रवासी कामगारों और सबसे ज्यादा परेशानी झेलने वालों को पैकेज से राहत मिलेगी।’

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी ने मंगलवार को कोरोना वायरस महामारी और लॉकडाउन से प्रभावित अर्थव्यवस्था को उबारने और किसानों, श्रमिकों, मध्यम वर्ग के लोगों समेत समाज के सभी प्रभावित वर्गों और क्षेत्रों को राहत देने के लिए 20 लाख करोड़ रुपए के विशेष आर्थिक पैकेज की घोषणा की।

 
 

Related posts

Top