दरोगा पर भाजपा नेता के बेटे को पीटने का आरोप, थाने में जमकर हंगामा, एसएसपी ने की बड़ी कार्रवाई

 

यूपी के मुजफ्फरनगर जनपद में गाड़ी हटवाने को लेकर भाजपा नेता के बेटे व दरोगा के बीच कहासुनी हो गई। आरोप है कि दरोगा ने उनके साथ मारपीट की। इसके बाद कोतवाली ले जाकर भी पीटा। वहीं घटना की जानकारी लगने पर भाजपा नेता अरुण वशिष्ठ अपने समर्थकों के साथ थाने पहुंचे और हंगामा कर दिया। भाजपा नेता जिद पर अड़े हैं कि दरोगा को निलंबित किया जाए।

बता दें कि संयुक्त व्यापार मंडल मेरठ के महामंत्री एवं वरिष्ठ भाजपा नेता अरुण वशिष्ठ के पुत्र को अपने फ्लैट के बाहर खड़ी एक गाड़ी को हटवाना भारी पड़ गया। उक्त गाड़ी मुजफ्फरनगर के ही मंडी थाने में तैनात दरोगा कुमार गौरव की थी। गाड़ी हटवाने की बात दरोगा को इतनी नागवार गुजरी कि उसने भाजपा नेता के बेटे को पहले तो सड़क पर पीटा फिर थाना मंडी कोतवाली ले जाकर थाने में बुरी तरह पिटाई की।

वहीं जानकारी मिलने के बाद भाजपा नेता अरुण वशिष्ठ एवं उनके पुत्र पार्षद अनुज वशिष्ठ देर रात मुजफ्फरनगर पहुंच गए। बताया गया कि भाजपा नेता मुजफ्फरनगर जिले के प्रभारी भी रहे हैं। इसके बाद भाजपाइयों ने मंडी कोतवाली का घेराव कर लिया।

उधर, घटना की सूचना के बाद क्षेत्रीय सांसद संजीव बालियान एवं शहर विधायक कपिल देव अग्रवाल ने इस घटनाक्रम पर आक्रोश व्यक्त करते हुए एसएसपी से तत्काल कार्यवाही की मांग की। वहीं फैले आक्रोश को देखते हुए सीओ मंडी हरीश भदौरिया फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए। वहीं एसएसपी अभिषेक यादव ने दरोगा कुमार गौरव को तत्काल प्रभाव से लाइन हाजिर कर दिया। लेकिन भाजपाई उसे निलंबन की मांग पर अड़े हैं। गुरुवार देर रात तक मुजफ्फरनगर में एसएसपी आवास एवं कोतवाली मंडी पर हंगामा होता रहा। एसएसपी ने मामले की जांच सीओ मंडी हरीश भदौरिया को सौंपी है और दो दिन में रिपोर्ट मांगी है।

वहीं सीओ मंडी एवं थाना प्रभारी मंडी गुरुवार को भाजपा नेता के पुत्र का बयान लेने उसके मुजफ्फरनगर स्थित आवास पर पहुंचे हैं। पार्टी कार्यकर्ताओं ने इस घटना की सूचना खेल मंत्री एवं मुजफ्फरनगर जिले के प्रभारी मंत्री चेतन चौहान को भी दे दी है।

 
 

Related posts

Top