कवाल कांड में मारे गये गौरव की मां लड़ेगी खतौली उपचुनाव, BJP पर लगाया राजनीति करने का आरोप

कवाल कांड में मारे गये गौरव की मां लड़ेगी खतौली उपचुनाव, BJP पर लगाया राजनीति करने का आरोप

को कवाल कांड में मारे गए गौरव की मां ने अब इस सीट पर चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी है. बीजेपी के ऊपर अपने बेटे की हत्या को लेकर राजनीति करने का आरोप लगाते हुए गौरव की मां ने अब निर्दलीय चुनाव मैदान में उतरने का ऐलान किया है.

New Delhi : उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर के जानसठ कोतवाली क्षेत्र के कवाल में हुए दंगों की वजह से दोषी ठहराए गए विधायक की सदस्यता चले जाने के बाद खतौली सीट पर अब उपचुनाव हो रहा है, लेकिन खतौली सीट के इस उपचुनाव पर अब एक बार फिर से कवाल कांड की छाया पड़ने जा रही है. शुक्रवार को कवाल कांड में मारे गए गौरव की मां ने अब इस सीट पर चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी है. बीजेपी के ऊपर अपने बेटे की हत्या को लेकर राजनीति करने का आरोप लगाते हुए गौरव की मां ने अब निर्दलीय चुनाव मैदान में उतरने का ऐलान किया है.

शुक्रवार को खतौली विधानसभा सीट पर हो रहे उपचुनाव में उस समय भारी गर्माहट आ गई. जब जानसठ कोतवाली क्षेत्र के गांव कवाल में हुए दंगों में मारे गए गौरव की मां ने चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया है. वर्ष 2013 में की गई इस हत्या के बाद भाजपा नेताओं द्वारा उनकी और उनके परिवार की कोई सहायता नहीं की गई है. जिसके चलते बेटे की मौत के बावजूद उन्हें और उनके परिवार को अदालतों के चक्कर लगाने पड़ रहे हैं.

बीजेपी की पोल खोलने के लिए उपचुनाव के अलावा कोई रास्ता नहीं

मृतक गौरव की मां ने कहा है कि गांव कवाल में हुए दंगों के बाद सत्ता का सुख भोग रही भाजपा की पोल खोलने के लिए अब उपचुनाव में उतरने के अलावा उनके सामने कोई रास्ता नहीं रह गया है. खतौली उपचुनाव में गौरव की मां को निर्दलीय इलेक्शन लड़ने का ऐलान किया है. मां ने कहा कि मुकदमे हमारे परिवार वाले झेल रहे हैं जो वहां कोई भी नहीं था हमें किसी प्रकार के इनसे कोई मदद नहीं मिली है ना हमें किसी प्रकार का कोई लाइसेंस मिला है.

‘जनता की सेवा करेंगे जनता को जो अच्छा लगेगा उसे जनता वोट देगी’

8 साल हो गए हैं. मां ने कहा बीजेपी के नेता यह भी कहते हैं कि हमें कुछ बताया नहीं, गौरव हमारा बेटा था और सचिन हमारे साले का बेटा था. जो दोनों मरे थे इस बार पुण्यतिथि पर कपिल देव गए थे मंत्री हमने उनसे दो-चार सवाल पूछ लिए वह भी वहां से आ गए फिर कभी नहीं गए गेन में, उन्होंने कहा कि त्रस्त होकर अब चुनाव लड़ने का निर्णय लिया है अब जनता के बीच जाएंगे जनता को बताएंगे जनता की सेवा करेंगे जनता को जो अच्छा लगेगा उसे जनता वोट देगी. गौरव के पिता का कहना है कि सुरेश देवी मेरी पत्नी है जो चुनाव लड़ेगी. सामने कोई भी हो हमे तो निर्दली लड़ना है.

व्हाट्सएप पर समाचार प्राप्त करने के लिए यंहा टैप/क्लिक करे वीडियो समाचारों के लिए हमारा यूट्यूब चैनल सबस्क्राईब करे