ब्लड शुगर टेस्ट स्ट्रिप सस्ते में प्राप्त करे
Dr. Morepen BG-03 Blood Glucose Test Strips, 50 Strips (Black/White)

Engineer Rajat Death Case: सिर पर मिली चोट की जांच करेगी फोरेंसिक टीम, घटनास्थल का होगा रीक्रिएशन

 
recreation of incident

लखनऊ । वृंदावन कॉलोनी में इंजीनियर रजत की मौत के मामले में उसके सिर पर गंभीर चोट मिली है। फोरेंसिक एक्सपर्ट और डॉक्टरों के अनुसार यह चोट रजत की मौत से पहले की है। अब पुलिस इसकी जांच फोरेंसिक एक्सपर्ट से कराएगी। इसके लिए उत्तर प्रदेश विधि विज्ञान प्रयोगशाला के डायरेक्टर को पत्र लिखा है। जल्द ही फोरेंसिक एक्सपर्ट की टीम घटनास्थल पर पहुंचकर क्राइमसीन रीक्रिएशन कर इसकी पड़ताल करेगी की रजत की मौत कैसे हुई। उसके सिर पर आयी चोट गिरने की है या किसी प्रहार की।

सिर पर 8*6 सेंटीमीटर की चोट है, पेट में मिला गंदा पानी और मलबा

पोस्टमार्टम में रजत के सिर पर 8*6 सेंटी मीटर की चोट सिर के बीच में मिली है। यह चोट (एंटीमार्टम इंजरी) रजत की मौत के पहले की है। इसके साथ ही उसके पेट में गंदा पानी और मलबा मिला है। यह डूबने अथवा किसी के द्वारा डूबोए जाने के कारण जब व्यक्ति तड़पता है तो उसके पेट में मलबा और गंदा पानी चला जाता है। इसके अलावा पेट में खाना भी मिला है। फोरेंसिक टीम इस बात की पड़ताल करेगी कि यह चोट गिरने से आयी अथवा किसी के प्रहार करने से। हो सकता है रजत के सिर पर किसी ने प्रहार किया और फिर पानी में गहरे तालाब में डुबो कर मार दिया। अधिकारियों के निर्देश और रजत की मां अलका के आरोप पर पुलिस पूरे मामले की वैज्ञानिक और इलेक्ट्रानिक साक्ष्यों के आधार पर पड़ताल कर रही है। ध्यान रहे, 17 नवंबर को रजत दोस्तों के साथ पार्टी मनाने के लिए शाम करीब 4ः30 बजे घर से निकला था। उसके बाद वह नहीं लौटा। दूसरे दिन देर रात उसका शव तालाब में मिला था।

परिवारीजनों का हत्यारोपितों से होगा आमना-सामना

इंस्पेक्टर पीजीआइ केके मिश्रा ने बताया कि जल्द ही रजत की मां अलका और अन्य परिवारीजनों की हत्यारोपित अर्पित त्रिवेदी और तुषार विमल से आमना-सामना कराया जाएगा। रजत के परिवारीजनों के सामने हत्यारोपितों से पूछताछ की जाएगी। क्योंकि कई जगह बयानों में विरोधाभास है। इंस्पेक्टर ने बताया कि रजत की मां ने जो ऑडियो दिया है। वह घटना से करीब छह से सात माह पुराना है। उसकी भी जांच की जा रही है।

घटना के दिन रात करीब 9ः30 बजे तक रजत के साथ था अर्पित

इंस्पेक्टर ने बताया कि जांच में पता चला है कि घटना के दिन करीब 9ः30 बजे तक अर्पित, रजत के साथ था। इसके बाद उसने उसे एक निजी कॉलेज के पास छोड़ा। वहां से घटनास्थल करीब डेढ़ से दो किमी है। अर्पित ने बताया कि वह रजत को निजी कॉलेज के पास छोड़कर चला गया था। उसके बाद रजत तालाब के पास कैसे पहुंचा कहां उसने कपड़े उतारे और कैसे उसकी निवस्त्र बॉडी तालाब में मिली इसकी उसे जानकारी नहीं है। इंस्पेक्टर ने बताया कि रात 9ः30 बजे के बाद की रजत की लोकेशन की पड़ताल कराई जा रह है। वहीं, तुषार विमल का कहना है कि वह ऑफिस के वेबिनार में था। तुषार विमल से भी वेबीनार की डिटेल मांगी गई है

 
 
Top