भारत की अध्यक्षता में आज UNSC की बैठक में अफगानिस्तान पर होगी चर्चा

भारत की अध्यक्षता में आज UNSC की बैठक में अफगानिस्तान पर होगी चर्चा
  • अफगानिस्तान पर खुली यूएनएससी पर चर्चा आयोजित करने का निर्णय विदेश मंत्री एस जयशंकर के साथ अफगानिस्तान के विदेश मंत्री मोहम्मद हनीफ अतमार से बातचीत करने के बाद सामने आया.

नई दिल्ली : भारत की अध्यक्षता में आज यानी शुक्रवार को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) की बैठक में अफगानिस्तान में बदतर होती सुरक्षा स्थिति पर चर्चा की जाएगी. भारत अफगानिस्तान पर UNSC में अपने विचार को रखेगा. इसके साथ ही, इस युद्धग्रस्त देश में तालिबान की हिंसा बढ़ने के मद्देनजर फौरन और व्यापक संघर्ष विराम के लिए जोर देगा. बता दें कि अफगानिस्तान पर खुली यूएनएससी पर चर्चा आयोजित करने का निर्णय विदेश मंत्री एस जयशंकर के साथ अफगानिस्तान के विदेश मंत्री मोहम्मद हनीफ अतमार से बातचीत करने के बाद सामने आया.

बैठक में उन्होंने अफगानिस्तान पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का आपातकालीन सत्र बुलाने को लेकर बातचीत की थी. भारत की अध्यक्षता में, यूएनएससी अफगानिस्तान में स्थिति पर बैठक करेगा. गुरुवार को विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने बताया कि कल की चर्चा के दौरान हम अफगानिस्तान पर अपना विचार और दृष्टिकोण साझा करेंगे तथा हम इस अहम मुद्दे पर सार्थक चर्चा होने की उम्मीद करते हैं.

बता दें कि अगस्त महीने के लिए यूएनएससी की अध्यक्षता भारत कर रहा है. बागची ने कहा कि अफगानिस्तान में उभरती स्थिति पर भारत करीबी नजर रखे हुए हैं और यह एक फौरन एवं व्यापक संघर्ष विराम की अपील जारी रखे हुए है.

वहीं अफगानिस्तान के विदेश मंत्री अतमार ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र और अंतरराष्ट्रीय समुदाय को तालिबान की हिंसा एवं अत्याचार के कारण अफगानिस्तान में सामने आ रही त्रासदी रोकने में बड़ी भूमिका निभानी चाहिए. अतमार ने ट्वीट कर कहा कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के मौजूदा अध्यक्ष की अग्रणी भूमिका की सराहना करता हूं.

गौरतलब है कि अफगानिस्तान में शांति एवं स्थिरता में भारत एक बड़ा हितधारक है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक की अध्यक्षता करने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री होंगे. पीएम नरेंद्र मोदी 9 अगस्त को एक उच्चस्तरीय वर्चुअल ओपन डिबेट की अध्यक्षता करेंगे. इस बैठक का मुद्दा समुद्र की सुरक्षा को लेकर होगा. यही नहीं इसमें अंतरराष्ट्रीय शांति और सुरक्षा के मसले पर भी चर्चा की जाएगी.


पत्रकार अप्लाई करे Apply