Vikas Dubey Encounter Today: अखिलेश बोले सरकार बचाने को पलटी गाड़ी, प्रियंका बोलीं- संरक्षण देने वालों का क्या होगा

 
Akhilesh Yadav Akhilesh Yadav

लखनऊ  गैंगस्टर विकास दुबे को पुलिस ने शुक्रवार सुबह मुठभेड़ में मार गिराया है। नौ जुलाई को मध्यप्रदेश स्थित उज्जैन के महाकाल शिवमंदिर परिसर से उसे पुलिस ने गिरफ्तार किया था। इसके बाद उसे यूपी एसटीएफ की टीम को सौंपा गया जो उसे कानपुर लेकर जा रही थी। रस्ते में गाड़ी पलट गई और दुबे ने भागने की कोशिश की और पुलिस की गोलियों का शिकार हो गया। अब इसे लेकर राजनीतिक सरगर्मी बढ़ गई है। अखिलेश यादव, जयंत चौधरी, प्रियंका गांधी वाड्रा और दिग्विजय सिंह ने इसपर सवाल उठाए हैं।

सरकार पलटने से बचाई गई: अखिलेश यादव
समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने विकास दुबे के मुठभेड़ में मारे जाने पर कहा, ‘दरअसल ये कार नहीं पलटी है, राज खुलने से सरकार पलटने से बचाई गई है।’

अपराध को संरक्षण देने वालों का क्या: प्रियंका गांधी
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने विकास दुबे की मुठभेड़ में मौत के बाद कहा, ‘अपराधी का अंत हो गया, अपराध और उसको सरंक्षण देने वाले लोगों का क्या?’

अपराधी का अंत हो गया, अपराध और उसको सरंक्षण देने वाले लोगों का क्या?

— Priyanka Gandhi Vadra (@priyankagandhi) July 10, 2020
कानून ने किया अपना काम: नरोत्तम मिश्रा
मध्यप्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने विकास दुबे के मुठभेड़ में मारे जाने पर कहा, ‘कानून ने अपना काम किया है। यह उन लोगों के लिए खेद और निराशा का विषय हो सकता है जिन्होंने विकास दुबे की कल गिरफ्तारी और आज मौत पर सवाल उठाए हैं। एमपी पुलिस ने अपना काम किया। उन्होंने उसे गिरफ्तार करके यूपी पुलिस को सौंप दिया।’

भाजपा के ठोक दो राज में अदालत की जरूरत नहीं
राष्ट्रीय लोक दल के नेता जयंत चौधरी ने मुठभेड़ में विकास दुबे की मौत को लेकर कहा, ‘विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद देश के सारे न्यायधीशों को इस्तीफा दे देना चाहिए। भाजपा के ठोक दो राज में अदालतों की जरूरत ही नहीं है।’

महाकाल मंदिर में ही आत्मसमर्पण क्यों किया: दिग्विजय सिंह
गैंगस्टर विकास दुबे ने गुरुवार को महाकाल मंदिर में आत्मसमर्पण किया था। इसे लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने कहा, ‘यह पता लगाना आवश्यक है विकास दुबे ने मध्यप्रदेश के उज्जैन महाकाल मंदिर को आत्मसमर्पण के लिए क्यों चुना? मध्यप्रदेश के कौन से प्रभावशाली व्यक्ति के भरोसे वो यहां उत्तर प्रदेश पुलिस के एनकाउंटर से बचने आया था?’

 
 

Related posts

Top