प्रताप सरनाईक ने CM उद्धव को लिखा पत्र, महाराष्ट्र में मचा सियासी भूचाल

प्रताप सरनाईक ने CM उद्धव को लिखा पत्र, महाराष्ट्र में मचा सियासी भूचाल
  • शिवसेना विधायक प्रताप सरनाईक में कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी पर शिवसेना के नेताओं और कार्यकर्ताओं को तोड़ने का आरोप लगाया. सरनाईक ने कहा है कि ये दोनों पार्टियां शिवसेना की ताकत को कम करने पर तुली हुई हैं. +

मुंबई: शिवसेना विधायक प्रताप सरनाईक में कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी पर शिवसेना के नेताओं और कार्यकर्ताओं को तोड़ने का आरोप लगाया. सरनाईक ने कहा है कि ये दोनों पार्टियां शिवसेना की ताकत को कम करने पर तुली हुई हैं. सरनाईक ने कहा है कि इन पार्टियों से गठबंधन तोड़ कर वापस बीजेपी से हाथ मिला लेने में ही भलाई है. सरनाईक ने आरोप लगाया कि महा विकास आघाडी सरकार में कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस के विधायकों के काम जल्दी हो जाते हैं, जबकि शिवसेना के विधायकों के काम में देरी होती है. सरनाईक ने कहा है कि कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस को लगता है कि उनकी वजह से शिवसेना का कोई व्यक्ति मुख्यमंत्री बन पाया.

सरनाईक ने यह भी आरोप लगाया है बीजेपी से हाथ मिला लेने से केंद्रीय जांच एजेंसियों से मिल रही तकलीफों से बचा जा सकता है. सरनाईक ने आरोप लगाया है आरोप महा विकास आघाड़ी सरकार के कुछ मंत्री और उनसे जुड़े बड़े अधिकारी, शिवसेना के पीठ पीछे, केंद्र सरकार के साथ हाथ मिलाए हुए हैं ताकि वो केंद्रीय जांच एजेंसियों की कारवाई से बचे रह सकें.

आपको बता दें कि इसके पहले पिछले साल सितंबर में कंगना रनौत के साथ महाराष्ट्र सरकार के विवाद के समय शिवसेना विधायक प्रताप सरनाइक भी कंगना पर हमला बोलने के चक्कर में केंद्र पर निशाना साधा था. शिवसेना विधायक ने महाराष्ट्र अधिवेशन के मॉनसून सत्र के दौरान बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत के खिलाफ लिखित शिकायत देकर दंडात्मक कार्रवाई की मांग की थी. शिवसेना विधायक ने शिकायती पत्र में लिखा था कि कंगना ने महाराष्ट्र और मुंबई की तुलना पाक अधिकृत कश्मीर से करके सम्पूर्ण महाराष्ट्र के 106 हुतात्माओं (शहीदों) का अपमान किया है. इसके अलावा कंगना रनौत ने मुंबई पुलिस की कार्य क्षमता पर भी सवाल उठाए हैं जिसके लिए शिवसेना विधायक ने कंगना रनौत पर कड़ी कार्रवाई की मांग की थी.

शिवसेना विधायक ने कंगना को सुरक्षा दिए जाने के विरोध में कहा था कि मोदी सरकार तो दाऊद इब्राहीम को भी सुरक्षा दे सकती है अगर महाराष्ट्र से कोई दाऊद के खिलाफ कुछ बोल दे. केंद्र सरकार को उन राज्यों के बारे में नहीं दिखाई दे रहा है जहां महिलाओं पर अत्याचार हो रहे हैं, लेकिन कंगना के ऊपर केंद्र सरकार का विशेष ध्यान है. शिवसेना विधायक ने धमकी देते हुए कहा कि अगर महाराष्ट्र के खिलाफ कोई भी गलत बात बोलेगा तो शिवसेना उसका जवाब जरूर देगी.


पत्रकार अप्लाई करे Apply