अपर सचिव के आश्वासन पर मिनिस्ट्रीयल कर्मचारियों ने वापस ली हड़ताल

सहारनपुर [24CN]। यूपी मेडिकल पब्लिक हेल्थ मिनिस्ट्रीयल एसोसिएशन ने अपर सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाएं के आश्वासन पर स्थानांतरण निरस्त करने को लेकर मिनिस्ट्रीयल स्वास्थ्यकर्मियों की विगत 19 जुलाई से चल रहे कार्य बहिष्कार की हड़ताल को जनहित में स्थगित करने का निर्णय लिया है।

जिला चिकित्सालय परिसर स्थित संघ भवन में आयोजित बैठक को सम्बोधित करते हुए एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष देवकुमार ने कहा कि कल प्रांतीय पदाधिकारियों की अपर सचिव चिकित्सा व स्वास्थ्य से हुई वार्ता के अनुसार मिनिस्ट्रीयल स्वास्थ्यकर्मियों की शिकायतों पर शासनादेश के अनुसार ही जांच कर कार्यवाही सम्पादिक की जाएगी तथा निलम्बन किए जाने वाले कार्य को गैरविभागीय स्थानों से सम्पादित नहीं किया जाएगा और जांच अधिकारी भी विभागीय अधिकारी को ही बनाए जाने की प्रमुख सचिव ने सहमति दी है तथा अन्य मामलों में आवश्यक कार्यवाही किए जाने का आश्वासन भी दिया है।

जिलाध्यक्ष शिवकुमार ने कहा कि जनहित को ध्यान में रखते हुए हड़ताल को अग्रिम आदेशों तक कोरोना बीमारी को ध्यान में रखते हुए स्थगित कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में निदेशक प्रशासन चिकित्सा स्वास्थ्य द्वारा शासन की मांग पर दूरस्थ के जनपदों में लगभग 250 स्वास्थ्यकर्मियों के स्थानांतरण संशोधित कर निकट के जनपदों में तैनात करने के आदेश कर दिए गए हैं और 50 से अधिक नीतिगत स्वास्थ्यकर्मियों के स्थानांतरण भी निदेशक प्रशासन द्वारा निरस्त कर दिए गए हैं।

जिला मंत्री रूबी ममता नायर ने बताया कि उत्तर प्रदेश के 75 जनपदों के मिनिस्ट्रीयल स्वास्थ्यकर्मियों ने पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार स्वास्थ्य निदेशालय का घेराव कर प्रदर्शन किया था। तत्पश्चात महासंघ के पदाधिकारियों को प्रमुख सचिव द्वारा आश्वासन दिया गया है।

बैठक में जिला उपाध्यक्ष शशी कुमार सैनी, भावना रावत, आर. एस. तिवारी, अथहर अली खान, एस. वी. रिचर्ड, गोपाल, अनिल सैनी, अनिल कुमार, अनूप कुमार, प्रदीप कुमार सिंह, रविंद्र कुमार, विशाल वैद्य, कामिनी चौधरी, दीप्ति सैनी, दीपमाला, अर्चना भटनागर, रीना शाह, सुभाष चंद, अश्विनी श्र्माा, अनिल कुमार, अनिल गुप्ता, शिवराम, अरविंद शर्मा, लक्ष्मण बिष्ट, अनूप लाम्बा, पारस सिंह, बिजेंद्र कुमार, सुरेंद्र पाल, आसिफ अली आदि मौजूद रहे।


पत्रकार अप्लाई करे Apply