डॉक्टरों ने पीएम मोदी को लिखा खत, बोले- 3 महीने से वेतन नहीं मिला, कुछ ज्यादा नहीं मांग रहे हैं

 

 

  • डॉक्टर्स ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखा खत, तीन महीने से सैलरी न मिलने की शिकायत की
  • उत्तरी दिल्ली नगर निगम के अस्पतालों को सैलरी की वजह से हो रही खासी दिक्कत, लिखा पत्र
  • ‘कर्मवीर’ डॉक्टरों ने कहा, हम ज्यादा कुछ नहीं, बस अपना वेतन मांग रहे हैं, दिला दीजिए

नई दिल्ली
उत्तरी दिल्ली नगर निगम के अंतर्गत आने वाले अस्पतालों के चिकित्सकों के एक संघ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) को पत्र लिखा है। इस पत्र के जरिए डॉक्टरों ने कहा है कि उत्तरी दिल्ली नगर निगम के अस्पतालों के डॉक्टरों को पिछले तीन महीने की तनख्वाह नहीं मिली है। अधिकारियों ने बताया कि म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन डॉक्टर्स असोसिएशन ने पिछले सप्ताह ई-मेल से यह पत्र भेजा। यह असोसिएशन तब बनी था जब निगम तीन हिस्सों में नहीं बंटा था।

असोसिएशन ने कहा कि ये डॉक्टर कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus) के कारण बहुत ही तनावपूर्ण दशा में काम कर रहे हैं। असोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. आरआर गौतम ने कहा, ‘हमें पिछले तीन महीने से तनख्वााह नहीं दी गई है और डॉक्टर के तौर पर हम मरीजों की सेवा करने का अपना कर्तव्य जानते हैं। हम ज्यादा कुछ नहीं, बल्कि बस अपना वेतन मांग रहे हैं।’ उत्तरी दिल्ली नगर निगम के अधिकारियों की तत्काल कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।

दिल्ली में 7,200 का आंकड़ा पार
उधर, कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या भारत में 70 हजार का आंकड़ा पार कर चुकी है। देश की राजधानी दिल्ली में इस वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या सोमवार को 7,233 पहुंच गई है जबकि 73 लोगों की इस भयानक महामारी की वजह से मौत हो चुकी है।

कोरोना मरीजों का इलाज घर पर करवाना कितना ठीक?

कोरोना मरीजों का इलाज घर पर करवाना कितना ठीक?केंद्र सरकार ने राज्य सरकारों से कोरोना वायरस के ऐसे मरीजों का इलाज घर पर ही करने को कहा है, जिनमें वायरस के लक्षण या तो बेहद सामान्य हैं या ना के बराबर हैं। अस्पताल में केवल उन्हीं मरीजों को रखा जाएगा जिनकी हालत काफी गंभीर है। तो क्या वाकई घर पर कोरोना के मरीजों का इलाज वाकई संभव है? क्या कहते हैं एक्सपर्ट। आइए जानते हैं इस वीडियो में।

 

 
 

Related posts

Top