भारत में 70 हजार के पार पहुंचे कोरोना केस, 11 मई को सामने आए 3,613 नए मामले

 

 

  • भारत में कोरोना संक्रमितों की संख्या पहुंची 70 हजार के पार, बढ़ी टेंशन
  • महाराष्ट्र, तमिलनाडु, गुजरात समेत अन्य राज्यों में कुल मौतों का आंकड़ा 2,200 के पार
  • इस भयानक महामारी से 22 हजार 380 लोग उपचार के बाद ठीक भी हो चुके हैं

नई दिल्ली
भारत में कोरोना वायरस (Coronavirus in India) से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 70 हजार के पार पहुंच गई है। महाराष्ट्र, तमिलनाडु और गुजरात समेत विभिन्न स्थानों पर कोरोना वायरस से मौत के चलते मृतकों का आंकड़ा 2,200 के पार जा चुका है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार सोमवार सुबह 8 बजे तक पिछले 24 घंटे में कोविड-19 (Covid19) के 4,213 मामले सामने आए हैं और 97 लोगों की मौत हुई है। इसके साथ ही संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 67,152 और मृतकों की संख्या 2,206 हो गई है।

भारत के अलग-अलग राज्यों से सोमवार को कोरोना के 3 हजार 613 मामले सामने आए, जिसके साथ ही यह संख्या 70 हजार 799 पहुंच गई। इसमें से 22 हजार 380 लोग उपचार के बाद घर लौट चुके हैं। वहीं, इस भयानक महामारी से 2,290 लोगों की अबतक मौत हुई है।

NBT

यह देखना भी है जरूरी

लगातार बढ़ रहे हैं कोरोना वायरस के मामले
महाराष्ट्र में इस महामारी के मामले 1230 बढ़कर 23,401 हो गए जबकि 36 और मरीजों की मौत के साथ इस बीमारी से जान गंवाने वालों की संख्या 868 हो गई। गुजरात में सोमवार को कोविड-19 संक्रमण के 347 नए मामले सामने आने और 20 मरीजों की मौत होने के साथ ही राज्य में इस महामारी के मामले बढ़कर 8,542 हो गए और अब तक 513 लोगों की जान इस बीमारी के चलते चली गई। राष्ट्रीय राजधानी में 300 से अधिक नए मामले सामने आए हैं।

ये लोग ही कर सकेंगे कंफर्म टिकट पर यात्रा
उधर, कोरोना संकट के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पांचवीं बार मुख्यमंत्रियों के साथ बातचीत की। मुख्यमंत्रियों से संवाद के दौरान प्रधानमंत्री के साथ रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, गृहमंत्री अमित शाह, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन भी मौजूद रहे। रेल मंत्रालय ने कहा है कि केवल वे लोग ही कंफर्म टिकट पर मंगलवार से 15 ट्रेनों में यात्रा कर सकेंगे, जिनमें इस बीमारी के लक्षण नहीं होंगे।

कोरोना मरीजों का इलाज घर पर करवाना कितना ठीक?

कोरोना मरीजों का इलाज घर पर करवाना कितना ठीक?केंद्र सरकार ने राज्य सरकारों से कोरोना वायरस के ऐसे मरीजों का इलाज घर पर ही करने को कहा है, जिनमें वायरस के लक्षण या तो बेहद सामान्य हैं या ना के बराबर हैं। अस्पताल में केवल उन्हीं मरीजों को रखा जाएगा जिनकी हालत काफी गंभीर है। तो क्या वाकई घर पर कोरोना के मरीजों का इलाज वाकई संभव है? क्या कहते हैं एक्सपर्ट। आइए जानते हैं इस वीडियो में।

 

 
 

Related posts

Top