कोरोना का कहर जारी, सहारनपुर में बसपा सांसद के परिवार समेत चार जिलों में मिले 22 संक्रमित

 

पश्चिमी यूपी में कोरोना वायरस का कहर अभी जारी है। यहां हर दिन नए कोरोना संक्रमितों के मिलने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। सहारनपुर जिले में आज बसपा सांसद के परिवार के 13 सदस्यों समेत चार जिलों में कुल 22 लोग कोरोना पाॅजिटिव मिले हैं। वहीं बिजनौर में दो पुलिसकर्मियों को भी कोरोना ने अपनी चपेट में ले लिया है। आगे विस्तार से जानें आखिर वेस्ट में क्या है कोविड 19 की मौजूदा स्थिति :-

चार जिलों में 22 कोरोना पॉजिटिव मिले
सांसद फजलुर्रहमान की कोरोना रिपोर्ट चार दिन पहले पॉजिटिव आई थी, जिनको राजकीय मेडिकल कॉलेज के कोविड अस्पताल में भर्ती किया गया है। उनके संपर्क में आए 30 परिजनों की सैंपलिंग की गई थी, जिनमें से चार लोगों की कोरोना रिपोर्ट सोमवार को पॉजिटिव आई है। पांच संक्रमित नानौता के मोहल्ला सर्वज्ञान के रहने वाले हैं।

एक सहारनपुर शहर के ही दाउदसराय थाना कुतुबशेर का रहने वाला है। इनके अलावा दो देवबंद के हैं, जिनमें से एक किरगिस्तान से आया था। एक संक्रमित रामपुर मनिहारान निवासी है। रिपोर्ट आते ही चिकित्सा विभाग और प्रशासन की टीम सक्रिय हो गई। सभी 13 संक्रमितों को रिपोर्ट आते ही तुरंत कोविड अस्पताल में शिफ्ट किया गया है, साथ ही उनके संपर्क में आए लोगों को होम क्वारंटीन किया गया है।

मेरठ में 12 इलाके ग्रीन जोन में शामिल   
शहर और देहात के 12 इलाकों को सोमवार को ग्रीन जोन में आने के बाद अनलॉक कर दिया गया है। डीएम अनिल ढींगरा ने बताया कि सीएमओ की रिपोर्ट के आधार पर इन इलाकों को ग्रीन जोन में शामिल किया है, उसके बाद अनलॉक किया गया। इन इलाकों में संजय कॉलोनी, भगवतपुरा, औरंगशाहपुर डिग्गी, रोशनपुर डोरली, रिठानी, श्रद्धापुरी, हरी नगर, जयदेवी नगर, सोतीगंज, चैतन्य पुरम, जाकिर कॉलोनी और सरधना कस्बे का एक मोहल्ला शामिल हैं।

हटा रोड पर सोमवार से बंद रहे मेडिकल स्टोर
कोरोना महामारी के चलते अब प्रशासनिक अधिकारियों के आदेश पर रोहटा रोड बाजार सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे तक ही खोला जाएगा। इस व्यवस्था के तहत जन कल्याण वेलफेयर सोसाइटी, व्यापार संग और क्षेत्रीय लोगों ने बाजार खोलने की व्यवस्था संभाली।

शहर में कोरोना की चेन तोड़ने के लिए सोमवार को डॉ. ओमकार सहारण के यहां बैठक का आयोजन हुआ। इसमें निर्णय लिया गया कि रोहटा रोड पर सोमवार को सभी प्रतिष्ठान पूर्ण रूप से बंद रहेंगे। इसमें मेडिकल स्टोर, फल सब्जी की दुकानें और किराना स्टोर भी शामिल रहेंगे। सुबह और शाम दो-दो घंटे दूध डेयरी खुलेंगी।

बागपत में 106 मरीज डिस्चार्ज होकर लौटे अपने घर
बागपत में कोविड-19 अस्पताल के प्रभारी चिकित्सक डा. ताहिर ने बताया कि कोरोना कॉल में यहां अभी तक कुल 123 मरीज भर्ती हुए है। इनमें सोमवार तक 100 मरीजों को इलाज के बाद स्वस्थ होने पर उनके घर भिजवाया जा चुका है। सोमवार को तीन मरीजों को मेरठ रेफर किया गया है। फिलहाल अस्पताल में 20 मरीज भर्ती है। वह भी स्वस्थ होते नजर आ रहे है।

72 लोगों के सैंपल लिए
कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने नगर स्थित कांशीराम आवासीय कॉलोनी और मोहल्ला विजयनगर में पहुंचकर 72 लोगों के सैंपल लिए। इनमें काशीराम आवासीय कॉलोनी के 30 और मोहल्ला विजयनगर में 42 लोग शामिल। कोविड अस्पताल के प्रभारी चिकित्सक डॉ. ताहिर ने बताया कि सभी सैंपलों को जांच के लिए भिजवाया गया है।
शामली में चार नए केस मिले, एक्टिव केस की संख्या बढ़कर 38 हुई
शामली जनपद शामली में कोरोना पॉजिटिव के चार नए केस सामने आए हैं। इनमें तीन महिलाएं हैं, जबकि एक युवक कस्बा कैराना का पूर्व में मिले कोरोना पॉजिटिव के क्लोज कांटेक्ट वाला बताया गया है। चारों नए कोरोना पॉजिटिव को कोविड अस्पताल में भर्ती कराया जाएगा।

दो महिलाएं शामली शहर के बुढ़ाना रोड की निवासी हैं। इन दोनों के तीन दिन पहले रेंडम सैंपल लेकर जांच को भेजे गए थे। इनमें एक महिला को खांसी जुकाम व हल्का बुखार मिलने पर स्वास्थ्य टीम ने सैंपल लिया था।

सोमवार को आई सैंपलों की जांच रिपोर्ट में दोनों महिलाएं कोरोना पॉजिटिव मिली हैं। कस्बा कैराना का एक युवक के सैंपल की रिपोर्ट 17 जून को कोरोना पॉजिटिव आई थी। इसके अलावा कस्बा झिंझाना के एक मोहल्ला निवासी महिला के सैंपल की जांच रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव मिली है।

अधिवक्ता का पिता कोरोना पॉजिटिव, हड़कंप
बिजनौर के धामपुर तहसील में एक अधिवक्ता के पिता उपचार के दौरान मुरादाबाद में कोरोना पॉजिटिव पाए हैं। यह अधिवक्ता अफजलगढ़ क्षेत्र के गांव भगतावाला के निवासी हैं। धामपुर में मामले का पता लगने पर यहां पर अधिवक्ताओं और तहसील प्रशासन में हड़कंप मच गया। इसके अलावा एक पुलिसकर्मी में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है।

तहसीलदार रमेशचंद्र चौहान ने सुरक्षा की दृष्टि से तहसील कार्यालय को बेरिकेडिंग कर दिया है। साथ ही तहसीलदार ने कर्मचारियों की टीम को गेट पर तैनात कर दिया है। अब कोई भी अधिवक्ता या आम व्यक्ति बगैर थर्मल स्क्रीनिंग कराए तहसील के किसी भी कार्यालय में प्रवेश नहीं कर सकेगा। सभी के हाथों को सैनिटाइज कराया जा रहा है।

तहसीलदार ने बताया कि एक अधिवक्ता के पिता बीमार हैं। आठ दिन पहले उपचार को मुरादाबाद में निजी अस्पताल में भर्ती कराया है। दो दिन पहले कोरोना जांच को सैंपल लिया गया था। जो जांच में पॉजिटिव मिला है।

 

 
 

Related posts

Top