Shobit University Gangoh
 
 

मेयर चुनाव से पहले MCD सदन में CISF तैनात, AAP ने उठाए सवाल

मेयर चुनाव से पहले MCD सदन में CISF तैनात, AAP ने उठाए सवाल

पीठासीन अधिकारी सत्या शर्मा ने उम्मीद जताई है कि इस बार एमसीडी सदन में कार्यवाही बिना किसी अप्रिय घटना के होगी. उन्होंने कहा है कि मनोनीत सदस्य पहले शपथ लेंगे.

New Delhi : दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) के सदन की दूसरी बैठक मंगलवार यानि आज होनी है. सभी नव निर्वाचित पार्षद पहले शपथ लेना शुरू करेंगे, इसके बाद मेयर, डिप्टी मेयर और स्टैंडिंग कमेटी का चुनाव होना है. लेकिन, चुनाव से पहले हंगामे की आशंका के मद्देनजर सदन में भारी तादाद में मार्शल, सिविल डिफेंस वॉलेंटियर्स की तैनाती की गई है. निगम में इसके अलावा दिल्ली पुलिस और CISF के जवान भी मौजूद हैं. वहीं, आम आदमी पार्टी के नेताओं ने सदन में CISF की तैनाती पर अपना विरोध जताया है.

आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने TV9 भारतवर्ष से खास बातचीत करते हुए कहा कि पीठासीन अधिकारी सत्या शर्मा ने कहा है कि वो विधायकों और सांसदों को सदन में एलाऊ नहीं करेंगी. ये उनके अधिकार क्षेत्र के बाहर है. मैं प्रिविलेज कमेटी का चेयरमैन हूं. अगर वो ऐसा करती हैं तो वो प्रिविलेज कमेटी के दायरे में आ जाएंगी.

सदन में AAP के सभी पार्षद मौजूद

आम आदमी पार्टी के सभी पार्षद , 3 विधायक और राज्यसभा सांसद संजय सिंह और सुशील गुप्ता सदन में पहुंचे हैं. हालांकि, भाजपा के पार्षद और सांसद अभी तक सदन में नहीं पहुंचे हैं. 11 बजे सबसे पहले पीठासीन अधिकारी सत्या शर्मा सदस्यों को शपथ दिलाएंगे उसके बाद मेयर, डिप्टी मेयर और स्टैंडिंग कमेटी के सदस्यों का चुनाव होगा.

पहली बैठक हंगामे के कारण हो गई थी स्थगित

महापौर और उपमहापौर का चुनाव नगर निगम चुनाव के बाद निर्वाचित 250 सदस्यों की छह जनवरी को हुई पहली बैठक में किया जाना था, लेकिन आम आदमी पार्टी (आप) और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सदस्यों के एक दूसरे से भिड़ जाने और हंगामा करने के बाद सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी गयी थी जिस कारण महापौर तथा उपमहापौर का चुनाव नहीं हो सका था.

AAP ने जताया था विरोध

पीठासीन अधिकारी सत्या शर्मा ने सोमवार को बताया था कि पिछली बैठक में आप के घोर विरोध के बावजूद उपराज्यपाल द्वारा नियुक्त एल्डरमैन पहले शपथ लेंगे. मंगलवार को होने वाली बैठक के एजेंडे अनुसार, डीएमसी अधिनियम, 1957 (2022 में संशोधित) के अनुसार मनोनीत पार्षद और सदस्य शपथ लेंगे. हालांकि, यह कानून शपथ ग्रहण के क्रम को निर्दिष्ट नहीं करता है.

चार दिसंबर को हुई थी मतगणना

दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) के चुनाव चार दिसंबर को हुए थे और मतगणना सात दिसंबर को हुई थी. आप ने 134 वार्ड जीतकर एमसीडी में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के 15 साल के शासन को खत्म कर दिया था.भाजपा ने एमसीडी के 250 सदस्यीय सदन में 104 वार्ड में जबकि कांग्रेस ने नौ वार्ड में जीत दर्ज की.महापौर पद के प्रत्याशियों में शैली ओबरॉय और आशु ठाकुर (आप) तथा रेखा गुप्ता (भाजपा) शामिल हैं. उम्मीदवारों को देखते हुए दिल्ली को महिला महापौर मिलना तय है.

उपमहापौर पद के ये दावेदार

उपमहापौर पद के प्रत्याशियों में आले मोहम्मद इकबाल और जलज कुमार (आप) तथा कमल बागड़ी (भाजपा) शामिल हैं. महापौर और उपमहापौर के अलावा एमसीडी की स्थायी समिति के छह सदस्यों के भी 24 जनवरी को सदन की बैठक के दौरान निर्वाचित होने की संभावना है. नवनिर्वाचित एमसीडी सदस्यों की पहली बैठक महापौर और उपमहापौर का चुनाव किए बगैर स्थगित हो गयी थी. आप पार्षदों ने पहले 10 मनोनीत सदस्यों को शपथ दिलाने के पीठासीन अधिकारी के फैसले का विरोध किया.


पत्रकार अप्लाई करे Apply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *