ब्लड शुगर टेस्ट स्ट्रिप सस्ते में प्राप्त करे
Dr. Morepen BG-03 Blood Glucose Test Strips, 50 Strips (Black/White)

UP के बलरामपुर में हाथरस जैसी घटना, गैंगरेप के बाद तोडे़ पैर, छात्रा की मौत

 

बलरामपुर: हाथरस में गैंगरेप मामले को लेकर पूरा देश अभी उबल रहा है, यू.पी. के ही बलरामपुर में एक और दलित युवती से फिर हैवानियत हुई है। 22 साल की दलित छात्रा से गैंगरेप के बाद उसकी कमर और दोनों पैर तोड़ दिए गए। उसके बाद उसे रिक्शे में बिठाकर घर भेज दिया गया जहां कुछ देर बाद उसकी मौत हो गई। घटना बलरामपुर के गैसड़ी कोतवाली क्षेत्र की है।
PunjabKesari
मृतक युवती की मां का आरोप है कि उसकी बेटी को इंजैक्शन लगाकर हैवानियत की गई जिस कारण वह कुछ भी बोल नहीं पा रही थी। वह सिर्फ इतना कह पाई-‘बहुत दर्द है अब मैं बचूंगी नहीं।’ हालांकि बलरामपुर एस.पी. देव रंजन वर्मा ने कहा कि हाथ-पैर और कमर तोडऩे वाली बात सही नहीं है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में इसकी पुष्टि नहीं हुई है। मामले में दो आरोपियों शाहिद और साहिल को गिरफ्तार कर लिया गया है।
PunjabKesari
युवती के परिजनों का आरोप है कि 22 साल की दलित छात्रा 29 सितम्बर की सुबह करीब 10 बजे बीकॉम में एडमिशन कराने घर से निकली थी लेकिन घर नहीं लौटी। शाम को करीब 5 बजे उसकी खोजबीन शुरू हुई। करीब 7 बजे शाम को पीड़ित युवती एक रिक्शे से बुरी तरह से घायल अवस्था में घर पहुंची। उसकी यह हालत देखकर घरवालों ने पूछताछ करने की कोशिश की तो वह दर्द से कराहने लगी। गांव के दो डॉक्टरों को दिखाने के बाद परिजन उसे जिला मुख्यालय पर इलाज करवाने के लिए लेकर रवाना हुए लेकिन कुछ दूरी पर ही छात्रा की मौत हो गई।
PunjabKesari
बताया जा रहा है कि जब छात्रा घर पहुंची तो कीचड़ से लथपथ थी और उसके हाथ में ग्लूकोज चढ़ाने वाला वीगो लगा था। परिजनों ने जब गांव में पता करने की कोशिश की तो पता चला की गांव के ही एक डॉक्टर को गांव के ही एक लड़के ने एक घर में युवती की इलाज के लिए बुलाया था।
PunjabKesari
परिजनों ने आरोप लगाया कि जब युवती पचपेड़वा के विमला विक्रम महाविद्यालय में एडमिशन कराकर लौट रही थी तो गांव के ही 5 से 6 लड़कों ने उसका अपहरण कर लिया और गांव के ही एक घर में ले जाकर गैंगरेप किया। जिस रिक्शे पर युवती को घर पहुंचाया गया, उसपर खून के धब्बे और रास्ते में उसकी जूती भी पाई गई है।
PunjabKesari
मामले की गंभीरता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि संयुक्त जिला चिकित्सालय स्थित पोस्टमॉर्टम हाऊस में करीब 6 घंटे तक युवती का पोस्टमार्टम 4 डाक्टरों के पैनल ने किया। देर शाम युवती का शव परिजनों को सौंपा गया। सूत्रों की मानें तो गैगरेप के बाद युवती के आंतरिक और बाहरी अंगों में काफी चोटें आई हैं जिसके कारण उसकी मौत हुई।

 
 

Related posts

Top