उद्धव ठाकरे का विधानसभा चुनावों को लेकर बड़ा बयान, राज ठाकरे पर भी कसा तंज

उद्धव ठाकरे का विधानसभा चुनावों को लेकर बड़ा बयान, राज ठाकरे पर भी कसा तंज

शिवसेना (UBT) प्रमुख उद्धव ठाकरे ने मंगलवार को कहा कि लोकसभा चुनाव ने महाराष्ट्र ही नहीं पूरे देश को एक दिशा दिखाई है। उन्होंने कहा, लोकतंत्र पर खतरा मंडरा रहा था, संविधान पर खतरा मंडरा रहा था तो संविधान के रक्षक के तौर पर शिवाजी महाराज का महाराष्ट्र सबसे आगे आया। हम लोग लगातार बोल रहे हैं कि महाराष्ट्र ने देश को दिशा दिखाई है और यह चुनाव देश के संविधान व लोकतंत्र के रक्षा का चुनाव था। अब जो लड़ाई होने वाली है वह गद्दारी, खोखेबाजी और लाचारी के विरुद्ध की लड़ाई होगी। महाराष्ट्र के अस्मिता के अस्तित्व की लड़ाई होगी और पुणे के बारे में कहा जाता है कि ये क्रांतिकारी विचारों और पढ़े-लिखे लोगों की जगह है इसलिए पुणे सत्ता बदलने का केंद्र होना चाहिए।

ये बातें उद्धव ठाकरे ने पुणे के MNS नेता वसंत मोरे के शिवसेना (UBT) में शामिल होने के बाद मातोश्री में इकट्ठा हुए शिवसैनिकों को संबोधित करते हुए कही। इस मौके पर पार्टी नेता संजय राउत भी मातोश्री में मौजूद थे।

MNS छोड़ वसंत मोरे ने थामी मशाल

बता दें कि वसंत मोरे ने लोकसभा चुनाव से पहले महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) छोड़ कर पुणे से वंचित बहुजन अघाड़ी (वीबीए) के उम्मीदवार के रूप में चुनाव में किस्मत आजमायी थी लेकिन उन्हें सफलता हाथ नहीं लगी थी। इसके बाद वसंत मोरे ने विधानसभा चुनाव से पहले फिर से पाला बदल लिया और शिवसेना UBT में शामिल हो गए।

चचेरे भाई पर कसा तंज

वसंत मोरे पहले शिवसेना में ही थे लेकिन जब राज ठाकरे ने पार्टी छोड़ी तब वो उनके साथ आ गए थे। लोकसभा चुनाव के दौरान MNS में दरकिनार महसूस कर रहे वसंत मोरे ने पार्टी छोड़ दी थी। वसंत मोरे के MNS छोड़ने पर भी उद्धव ने अपने चचेरे भाई पर तंज कसते हुए कहा, ”वसंत पहले आप शिवसेना में थे लेकिन शिवसेना से जाने के बाद बाहर किस तरीके से सम्मान मिलता है और मिलता भी है क्या? इसका अनुभव लिया और इसका अनुभव लेकर आप और परिपक्व होकर पार्टी में वापस लौट आए हैं।”

व्हाट्सएप पर समाचार प्राप्त करने के लिए यंहा टैप/क्लिक करे वीडियो समाचारों के लिए हमारा यूट्यूब चैनल सबस्क्राईब करे