MVA सरकार छोड़ने को तैयार शिवसेना, गुवाहटी में बैठे MLA आकर बात करें

MVA सरकार छोड़ने को तैयार शिवसेना, गुवाहटी में बैठे MLA आकर बात करें
  • मुंबई में संजय राउत ने दावा किया है कि 21 शिवसेना विधायक संपर्क में हैं और 24 घंटों में मुंबई वापस लौट आएंगे. शिंदे गुट के वीडियो से उलट संजय राउत ने कहा है कि फ्लोर टेस्ट में जीत उद्धव ठाकरे की ही होगी.

मुंबई: शिवसेना सांसद संजय राउत ने एकनाथ शिंदे से वापस मुंबई लौटने और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से सीधी बातचीत करने की अपील की है. मीडिया से बात करते हुए संजय यहां तक कह गए कि शिवसेना महा विकास अघाड़ी सरकार से भी बाहर आने को तैयार है. इसके साथ ही संजय राउत ने यह दावा भी किया सीएम उद्धव ठाकरे वापस सीएम आवास वर्षा में जाकर ही रहेंगे. गौरतलब है कि असम के गुवाहटी में एकनाथ शिंदे के साथ बागी विधायकों ने गुरुवार को एक वीडियो जारी कर शक्ति प्रदर्शन का नमूना पेश किया. यह अलग बात है कि मुंबई में संजय राउत ने दावा किया है कि 21 शिवसेना विधायक संपर्क में हैं और 24 घंटों में मुंबई वापस लौट आएंगे. शिंदे गुट के वीडियो से उलट संजय राउत ने कहा है कि फ्लोर टेस्ट में जीत उद्धव ठाकरे की ही होगी.

संजय राउत का दावा 21 बागी विधायक संपर्क में
मुंबई में मीडिया से बातचीत में संजय राउत ने भरोसा जताते हुए कहा उद्धव ठाकरे जल्दी ही सीएम आवास ‘वर्षा’ में वापस लौटेंगे. संजय राउत ने यह भी दावा किया कि शिवसेना के विधायकों का अपहरण किया गया है. गुवाहाटी में शिवसेना के 21 विधायक संपर्क में हैं और वे वापस आना चाहते हैं. इस बीच सूरत में एकनाथ शिंदे कैंप छोड़कर आए नितिन देशमुख ने कहा कि पहले भी कई बार महा विकास अघाड़ी सरकार को गिराने की साजिश हुई है. कुछ लोग हिंदुत्व की बात कर रहे हैं. यदि आप सरकार में सहमत नहीं थे तो उद्धव ठाकरे से मिलकर अपने पद से इस्तीफा दे देना था, लेकिन यहां बात करने की बजाय कुछ विधायकों को लेकर ही वे लोग भाग गए. नितिन देशमुख के अलावा एक अन्य विधायक कैलाश पाटिल ने जबरन सूरत में रखने की बात की है.

शिंदे गुट वीडियो जारी कर दिखाई एकता
इस बीच एकनाथ शिंदे गुट ने भी वीडियो जारी कर उन्हें समर्थन देने की बात कही है. इस वीडियो में 42 विधायक दिख रहे हैं, जो शक्ति प्रदर्शन करते हुए नारे लगा रहे हैं कि एकनाथ शिंदे संघर्ष करो, हम तुम्हारे साथ हैं. बता दें कि इतनी बड़ी बगावत के बाद भी शिवसेना की ओर से एकनाथ शिंदे और उनके गुट के लिए कड़े शब्दों का इस्तेमाल नहीं किया जा रहा है. जाहिर है शिवसेना का रुख नरम है और वह किसी तरह एकनाथ शिंदे गुट को मनाना चाहती है. इससे पहले बुधवार शाम को उद्धव ठाकरे ने भी एक भावुक अपील कर उद्धव ठाकरे ने बागी विधायकों से वापस आकर बात करने को कहा था.


पत्रकार अप्लाई करे Apply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *