ब्लड शुगर टेस्ट स्ट्रिप सस्ते में प्राप्त करे
Dr. Morepen BG-03 Blood Glucose Test Strips, 50 Strips (Black/White)

हाथरस मामले में एसपी, इंस्पेक्टर समेत कई पुलिस अधिकारी सस्पेंड, नार्को टेस्ट के आदेश

 

नेशनल डेस्कः हाथरस गैंगरेप केस में लापरवाही बरतने के आरोप में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बड़ी कार्रवाई करते हुए हाथरस के डीएम और एसपी को निलंबित कर दिया है। इसके अलावा मुख्यमंत्री इंस्पेक्टर समेत कई पुलिसकर्मियों को भी निलंबित कर दिया है। वहीं, इस मामले में लापरवाही बरतने के आरोप में सभी अधिकारियों का नारको पॉलीग्राफ टेस्ट भी कराया जाएगा। बता दें कि योगी आदित्यनाथ ने पीड़ित परिवार को आश्वासन दिया था कि दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

PunjabKesari

बता दें कि इस पूरे केस में हाथरस के जिलाधिकारी प्रवीण कुमार और एसपी ने जिस तरह से कार्रवाई की, उसके बाद से ही वो निशाने पर हैं। DM प्रवीण कुमार पर तो गैंगरेप पीड़िता के परिवार ने गंभीर आरोप भी लगाए हैं। पीड़िता के परिजनों ने प्रशासन पर धमकाने और दबाव डालने का आरोप लगाया है। गुरुवार को एक वीडियो सामने आया, जिसमें हाथरस के डीएम पीड़ित परिवार को धमकी देते दिख रहे हैं। हाथरस के डीएम कह रहे हैं कि मीडिया वाले तो चले जाएंगे, लेकिन प्रशासन को यहीं रहना है।
PunjabKesari
हाथरस के पीड़ित परिवार का कहना है कि उनको धमकाया जा रहा है। केस को रफा-दफा करने के लिए दवाब डाला जा रहा है। पीड़िता के अंतिम संस्कार को लेकर भी हाथरस प्रशासन पर सवाल उठ रहे हैं। पीड़िता का रात में अंतिम संस्कार किया गया था। हाथरस प्रशासन इस फैसले पर घिरा है। बीजेपी के अंदर से ही इस फैसले के खिलाफ आवाज उठने लगी है। केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति ने कहा कि पीड़िता का शव परिजनों को दिया जाना चाहिए था।

बता दें कि 14 सितंबर को हाथरस की लड़की के साथ गैंगरेप हुआ था। आरोप है कि गैंगरेप के बाद आरोपियों ने युवती की जीभ काट दी थी और रीढ़ की हड्डी तोड़ दी थी। पीड़िका की हालत खराब होने के बाद इलाज के लिए उन्हें दिल्ली ले जाया गया था। मंगलवार की सुबह उन्होंने सफदरजंग अस्पताल में दम तोड़ दिया। प्रदेश की पुलिस पर मामले में लीपापोती का आरोप लगा है।
PunjabKesari
एक ओर जहां हाथरस के डीएम और एसपी पर लापरवाही के आरोप हैं तो एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार तो दावा कर रहे हैं कि युवती के साथ रेप हुआ ही नहीं। उन्होंने बताया कि युवती की मौत गले में चोट लगने और उसके कारण हुए सदमे की वजह से हुई थी। फॉरेंसिक साइंस लैब की रिपोर्ट से भी यह साफ जाहिर होता है कि उसके साथ बलात्कार नहीं हुआ।

सीएम योगी का अपराधियों को कड़ा संदेश
इस बीच, महिलाओं के खिलाफ आपराधिक गतिविधियों में शामिल लोगों को मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने शुक्रवार को कड़ा संदेश दिया और कहा कि ऐसे लोगों के खिलाफ अत्यंत कठोर कार्रवाई की जाएगी। योगी ने ट्विटर पर कहा ”उत्‍तर प्रदेश में माताओं-बहनों के सम्‍मान और स्‍वाभिमान को क्षति पहुंचाने का विचार मात्र रखने वालों का समूल नाश सुनिश्चित है। इन्‍हें ऐसा दंड मिलेगा जो भविष्‍य में उदाहरण प्रस्‍तुत करेगा।” मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘आपकी उत्‍तर प्रदेश सरकार हर माता-बहन की सुरक्षा व विकास के लिए संकल्‍पबद्ध है। यह हमारा संकल्‍प ह‍ै-वचन है।” योगी का यह बयान ऐसे समय आया है जब प्रदेश में महिलाओं के साथ दुष्‍कर्म और आपराधिक घटनाओं को लेकर विपक्ष ने व्यापक विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिए हैं।

 
 

Related posts

Top