दिल्ली: पूर्व विधायक रामवीर शौकीन पर 50 हजार का इनाम घोषित

 

दिल्ली पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक ने पूर्व कांग्रेस विधायक व गैंगस्टर नीरज बवानिया के मामा रामवीर शौकीन पर 50 हजार रुपये का इनाम घोषित किया है। बहुत जल्द इनाम राशि बढ़ाई जा सकती है। दिल्ली पुलिस ने रामवीर शौकीन को भगोड़ा घोषित करने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी है।

सफदरजंग एंक्लेव थाना पुलिस के अलावा दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल व अपराध शाखा रामवीर की तलाश कर रही हैं। दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल की अधिकारियों की मानें तो रामवीर नेपाल भाग चुका है और मोबाइल का इस्तेमाल भी नहीं कर रहा है।

26 सितंबर, 2018 को कांग्रेस के पूर्व विधायक रामवीर शौकीन को बागपत पुलिस इलाज के लिए को सफदरजंग अस्पताल लेकर गई थी। वहां वह एक पेड़ के पास पत्नी व रिश्तेदारों से बात कर रहा था। बागपत पुलिस कुछ दूरी पर थी।

दोपहर करीब डेढ़ बजे पेड़ की आड़ लेकर पुलिसकर्मियों को चकमा देते हुए वह फरार हो गया था। बागपत पुलिस की शिकायत पर  सफदरजंग एंक्लेव थाने में मामला दर्ज किया गया। रामवीर शौकीन दिल्ली के बड़े गैंगस्टर व इस समय जेल में बंद नीरज बवानिया का मामा है। शौकीन मुंडका से कांगेस से विधायक रह चुका है।

रामवीर पर आरोप है कि उसने उप्र के अपराधी अमित भूरा को उत्तराखंड पुलिस की हिरासत से भगाने में मदद की। उत्तराखंड पुलिस भूरा को बागपत कोर्ट में पेश करने जा रही थी। तभी बागपत के क्रिस्तु ज्योति स्कूल के पास भूरा को छुड़ाया गया और पुलिसकर्मियों के हथियार लूट लिए थे।

इस अपराध में शौकीन ने गैंगस्टर नीरज बवानिया का साथ दिया और लूटी गई एके-47 अपने पास छिपा ली। बाद में एके-47 को जमीन में दबाकर छिपा दिया था। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने करीब एक वर्ष की मेहनत के बाद रामवीर शौकीन को गिरफ्तार किया था और उस पर मकोका लगाया था।

 
 

Related posts

Top