पाकिस्तानी सेना ने किया LoC के नजदीक ‘भारतीय जासूसी ड्रोन’ को मार गिराने का दावा

 

 

इस्लामाबाद
पाकिस्तानी सेना ने रविवार को दावा किया कि उसने नियंत्रण रेखा पर हवाई क्षेत्र का उल्लंघन कर आए भारत के ‘एक जासूसी ड्रोन’ को मार गिराया है। पाकिस्तान की सेना द्वारा जारी एक बयान के मुताबिक, यह घटना नियंत्रण रेखा के नजदीक हॉट स्प्रिंग सेक्टर में हुई। पाकिस्तानी सेना ने बताया कि भारत का जासूसी ड्रोन नियंत्रण रेखा से 850 मीटर भीतर उनके कब्जे वाले क्षेत्र में आ गया था जिसे मार गिराया गया।

9वां ड्रोन गिराने का दावा
बयान में दावा किया गया कि इस साल यह नौवां भारतीय ड्रोन है जिसे पाकिस्तानी सेना ने मार गिराया है। हालांकि, भारत, पाकिस्तान के ऐसे दावों को सिरे से खारिज कर चुका है। उल्लेखनीय है कि पिछले साल 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के काफिले पर हुए आत्मघाती हमले में 40 जवानों के शहीद होने के बाद, प्रतिक्रिया में 26 फरवरी को पाकिस्तान के बालाकोट स्थित जैश-ए-मोहम्मद के प्रशिक्षण शिविर पर भारतीय वायुसेना ने एयर स्ट्राइक किया जिसके बाद से ही दोनों देशों के संबंध तनावपूर्ण बने हुए हैं।

पिछले साल से बौखलाया है पाक
पिछले साल 26 फरवरी को भारत की कार्रवाई के जवाब में पाकिस्तान ने भी 27 फरवरी को भारतीय सैन्य प्रतिष्ठानों को निशाना बनाने की कोशिश की थी। दोनों देशों के संबंधों में समय उस समय और तनाव बढ़ गया जब गत वर्ष पांच अगस्त को भारत ने जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले, संविधान के अनुच्छेद-370 के अधिकतर प्रावधानों को निरस्त कर दिया।

आतंकी संगठनों को फंडिंग, FATF की ग्रे लिस्ट में बना रहेगा पाकिस्तान

आतंकी संगठनों को फंडिंग, FATF की ग्रे लिस्ट में बना रहेगा पाकिस्तानपुलवामा आतंकी हमले के बाद 2019 में पाकिस्तान ने आतंकियों के खिलाफ कुछ मामूली कदम जरूर उठाए, लेकिन वह अभी भी आतंकियों के लिए एक सुरक्षित पनाहगाह बना हुआ है। अमेरिका के विदेश मंत्रालय की एक रिपोर्ट में ये बात कही गई है। रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तान अभी भी अपनी जमीन से उन आतंकी संगठनों को कार्य करने दे रहा है जो भारत और अफगानिस्तान पर हमला करते हैं। इसी रिपोर्ट के बाद पाकिस्तान को FATF की ग्रे लिस्ट में बरक़रार रखने का फैसला लिया गया है।

 

 
 

Related posts

Top