Mahapanchayat In Shamli: रालोद की महापंचायत में उमड़े किसान, जयंत चौधरी बोले- दिल्ली की हिंसा भाजपा की साजिश

Mahapanchayat In Shamli: रालोद की महापंचायत में उमड़े किसान, जयंत चौधरी बोले- दिल्ली की हिंसा भाजपा की साजिश

शामली  : उत्‍तर प्रदेश के शामली में कृषि कानूनों के विरोध में गांव भैंसवाल में स्वामी कल्याण देव कन्या गुरुकुल में आज रालोद के आह्वान पर किसान महापंचायत हुई। जिसमें रालोद उपाध्यक्ष जयंत चौधरी ने कहा कि गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में हुई हिंसा भाजपा की साजिश थी। उपद्रवियों को दिल्ली पुलिस मूक दर्शक बनकर देखती रही। उन्होंने कहा कि जो आज किसानों के साथ नहीं उन्हें आगामी चुनाव में वोट नहीं देना है। महापंचायत में भाकियू के अध्यक्ष नरेश टिकैत के छोटे भाई नरेंद्र ने भी शिरकत की। वहीं राकेश टिकैत ने शामली में होने वाले आंदोलन से खुद को किनारा किया है। कहा है कि इस पंचायत से भाकियू का कोई लेनादेना नहीं है।

जयंत चौधरी ने कृषि कानूनों पर बोलते हुए कहा कि सरकार कृषि कानूनों पर अडिग है। सरकार को इतना अंहकार नहीं करना चाहिए। उन्‍होंने कहा कि जब‍ सभी लोग इस कानून का विरोध कर रहे हैं तो सरकार को इसको वापस ले लेना चाहिए। उन्‍होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि अगर विद्यानसभा में किसानों के प्रतिनिधि कम हो गए है। अब फिर से विधानसभा में प्रतिनिधियों को भेजना होगा। इसके लिए किसान नेताओं को जीताने की अपील की।

भैंसवाल गांव में बुलाई गई रालोद की महापंचायत में किसानों का सैलाब उमड़ा हुआ नजर आया। प्रशासन ने सुरक्षा का हवाला देते हुए पंचायत कराने की अनुमति नहीं दी थी, लेकिन इसके बाद भी पंचायत बुलाई गई। पंचायत में सुबह से ही किसान जुटते चले गए। तकरीबन दो बजे रालोद नेता के पहुंचने के बाद पंचायत का आगाज हुआ। वक्‍ताओं ने कृषि कानूनों का विरोध करते हुए कहा कि सरकार को इन कानूनों को वापस लेना ही होगा। जबतक सरकार यह कानून वापस नहीं लेती आंदोलन जारी रहेगा।

किसानों का उमड़ा जन सैलाब 

शामली में होने वाली महापंचायत में किसानों का सैलाब उमड़ पड़ा। सुबह से ही किसानों का पंचायत स्‍थल पर पहुंचना जारी हो गया था। पहले तो एक दो ही किसान मैदान में नजर आए लेकिन देखते ही देखते किसानों की भीड़ जुटनी शुरू हो गई। थोडे ही देर में किसानों का सैलाब उमड़ पड़ा। कुछ किसान रास्‍ते में थे, जो पंचायत शुरू होने के काफी देर बाद पहुंचे। हालाकि देर से ही रालोद नेता जयंत चौधरी का भाषण शुरू हुआ।

भारी पुलिस फोर्स रही तैनात 

पंचायत की अनुमति नहीं मिलने के बाद भी किसानों की पंचायत कराई गई। जिसके बाद प्रशासन ने भी सुरक्षा के मद्देनजर पूरी तैयारी की और पुलिस फोर्स का पहरा लगा दिया। पंचायत स्‍थल पर पुलिस की फोर्स तैनात रही। पीएससी बल से लेकर पुलिस के अधिकारी भी मौके पर मौजूद रहे। बीच-बीच में अधिकारी पंचायत स्‍थल का जायजा लेते हुए नजर आए।

अधिकारियों ने क्‍या बताया

एडीएम अरविंद कुमार सिंह और एएसपी राजेश श्रीवास्तव के साथ वार्ता में रालोद नेताओं ने कहा कि पंचायत की तैयारियों को अंजाम दिया जा चुका है। एसडीएम शामली संदीप कुमार औरव और सीओ थानाभवन अमित सक्सेना ने आयोजन स्थल का मुआयना किया।

प्रशासन और आयोजकों से हुई मुलाकात

पंचायत से पहले रालोद के जिलाध्यक्ष योगेंद्र चेयरमैन ने बताया कि वह अन्य रालोद नेताओं के साथ पुलिस-प्रशासन से मिले थे। एसपी सुकीर्ति माधव ने बताया कि पंचायत को लेकर सुरक्षा और कानून-व्यवस्था के मद्देनजर पुलिस बल तैनात किया गया था।

व्हाट्सएप पर समाचार प्राप्त करने के लिए यंहा टैप/क्लिक करे वीडियो समाचारों के लिए हमारा यूट्यूब चैनल सबस्क्राईब करे