मदरसे के छात्र को बर्दाश्त नहीं हुई परिजनों की डांट, फांसी के फंदे पर लटककर दे दी जान

 

सहारनपुर जनपद के पथरवा गांव में सोमवार की रात एक 12 वर्षीय बालक ने घर वालों की फटकार से क्षुब्ध होकर फांसी पर लटक कर आत्महत्या कर ली। मृतक बेहट के एक मदरसे का छात्र था।

वहीं सूचना मिलने पर कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची। परिजनों के कानूनी कार्रवाई से इंकार करने पर पुलिस शव का पंचनामा भरने के बाद लौट गई। कोतवाली बेहट क्षेत्र पथरवा निवासी कुर्बान का 12 साल का बेटा मुस्तान बेहट के मोहल्ला खालसा स्थित एक मदरसे में पढ़ता था। दो दिन पहले वह मदरसे से भागकर घर आ गया था, जिससे परिजन उससे नाराज थे। सोमवार की रात परिजनों ने उसे मदरसे में नहीं जाने पर डांट दिया। जिससे क्षुब्ध होकर मुस्तान ने गांव के पास ही मंदिर वाले आम के बाग में जाकर रस्सी से फांसी लगा ली। रस्सी टूटने कारण उसका शव नीचे पड़ा मिला।

इसके बाद सूचना मिलने पर कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची। लेकिन परिजनों के कानूनी कार्रवाई से इंकार करने पर पुलिस वापस लौट आई। मंगलवार की सुबह परिजनों ने शव को सुपुर्द-ए-खाक कर दिया गया।

 
 

Related posts

Top