भारत के कोरोना वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट को 15 और देशों में मिली मान्यता- MEA

भारत के कोरोना वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट को 15 और देशों में मिली मान्यता- MEA
  • आस्ट्रेलिया बांग्लादेश बेलारुस एस्टोनिया जार्जिया हंगरी ईरान कजाकिस्तान किर्गिस्तान लेबनान मारिशस मंगोलिया नेपाल निकारागुआ फलस्तीन फिलिपिंस सैन मरिनो सिंगापुर स्विटजरलैंड टर्की और यूक्रेन ने भारत के कोरोना वैक्सीन प्रमाणपत्र को मान्यता दे दी है।

नई दिल्ली। विदेश मंत्रालय ने गुरुवार देर रात इस बात की जानकारी दी कि भारत के वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट को 15 और देशों ने मान्यता दे दी है। ये देश हैं आस्ट्रेलिया, बांग्लादेश, बेलारुस, एस्टोनिया, जार्जिया, हंगरी, ईरान, कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, लेबनान, मारिशस, मंगोलिया, नेपाल, निकारागुआ, फलस्तीन, फिलिपिंस, सैन मरिनो, सिंगापुर, स्विटजरलैंड, टर्की, यूक्रेन।

इस बीच विदेशों में बढ़ते कोरोना मामलों के मद्देनजर केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने गुरुवार को सभी राज्यों व केंद्रशासित प्रदेशों को लिखित तौर पर सचेत रहने की सलाह दी है। साथ ही उन्होंने टेस्ट-ट्रैक-ट्रीट-वैक्सीनेट के उपायों को सख्ती से लागू करने को कहा है।

इस माह के शुरुआत में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा था कि करीब 100 देशों ने भारत के कोरोना वैक्सीन के सर्टिफिकेट व वैक्सीनेशन की प्रक्रिया पर सहमति व्यक्त की है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने कहा था कि केंद्र सरकार दुनिया के बाकी देशों से बात कर रही है ताकि दुनिया के सबसे बड़े वैक्सीनेशन प्रोग्राम के लाभार्थियों को मान्यता मिले ताकि वे शिक्षा, बिजनेस पर्यटन के लिए आराम से किसी भी देश की यात्रा कर सकें। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय व विदेश मंत्रालय लगातार सभी देशों से बातचीत कर रहे हैं

कोविशील्ड और कोवैक्सीन के वाणिज्यिक निर्यात की अनुमति

केंद्र सरकार ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों तथा निर्माताओं के पास कोरोनारोधी टीकों का पर्याप्त भंडार होने को ध्यान में रखते हुए कोविशील्ड और कोवैक्सीन के वाणिज्यिक निर्यात की अनुमति दी है। बता दें कि निर्यात किए जाने वाले वैक्सीन की मात्रा को लेकर सरकार हर महीने फैसला करेगी ताकि देश में उसकी उपलब्धता में कोई कमी नहीं होने की बात सुनिश्चित की जा सके। उधर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने लैटिन अमेरिकी और कैरेबियाई देशों के राजदूतों से मुलाकात के दौरान बताया कि दुनिया में कोरोना की रोकथाम के लिए भारत वैक्सीन का निर्यात फिर शुरू करने के पक्ष में है।

ADB ने भारत को वैक्सीन खरीद के लिए लोन पर दी मंजूरी

एशियन डेवलपमेंट बैंक (ADB) ने भारत को वैक्सीन खरीदने के लिए 1.5 अरब डालर (111.73 अरब रुपये) का ऋण मंजूर किया है। सरकार द्वारा सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआइआइ) को कोविशील्ड की 50 लाख खुराक नेपाल, ताजिकिस्तान, बांग्लादेश और मोजम्बिक निर्यात करने की अनुमति दिये जाने के साथ भारत ने हाल में संयुक्त राष्ट्र समर्थित ‘कोवैक्स’ को कोरोना टीकों की आपूर्ति बहाल की है। कोविशील्ड टीकों की खेप इस सप्ताह नेपाल और ताजिकिस्तान पहुंचेगी।

 


पत्रकार अप्लाई करे Apply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *