भारत में पीएम मोदी तो पाकिस्तान में इमरान खान आज करेंगे करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन

 

भारत-पाकिस्तान के बीच बहुप्रतीक्षित करतारपुर साहिब कॉरिडोर का उद्घाटन शुक्रवार को गुरुनानक देव के 550वें जन्म दिवस पर किया जाएगा। पीएम नरेंद्र मोदी भारत तो पाकिस्तान के पीएम इमरान खान अपने यहां अलग-अलग इस कॉरिडोर का उद्घाटन करेंगे। शुक्रवार को भारत के करीब 5 हजार श्रद्घालु करतारपुर साहिब में मत्था टेकेंगे।

कॉरिडोर का उद्घाटन करने से पूर्व पीएम मोदी सुल्तानपुर लोधी स्थित गुरूद्वारा बेर साहब में मत्था टेकेंगे। इसके बाद नका कार्यक्रम डेरा बाबा नानक जाएंगे। गौरतलब है कि सुल्तानपुर लोधी में गुरुनानक देव ने अपने जीवन केकई अहम वर्ष गुजारे थे।

पाकिस्तान में सेना बनाम सरकार

इस कॉरिडोर पर पाकिस्तान में कई बार सरकार और सेना में मतभेद सार्वजनिक हुए। पहले पीएम इमरान खान ने श्रद्घालुओं केलिए पासपोर्ट की अनिवार्यता नहीं होने की बात कही। जबकि सेना ने साफ कहा कि यात्रा के लिए पासपोर्ट अनिवार्य होगा। इसके बाद इस यात्रा के एक दिन पहले सेना ने एंट्री फीस वसूलने की भी घोषणा की। जबकि इमरान ने बीते हफ्ते पहले दिन श्रद्घालुओं से एंट्री फीस के रूप में 20 डॉलर नहीं लेने की बात कही थी।

करतारपुर : सुबह पाक बोला 20 डॉलर लेंगे, शाम को फिर पलटा

करतारपुर कॉरिडोर को लेकर लगातार रुख बदलने वाले पाकिस्तान ने एक बार फिर पलटी खाई है। पाकिस्तान से शुक्रवार सुबह खबर आई कि वह नौ नवंबर को करतारपुर आने वाले पहले श्रद्धालुओं के पहले जत्थे से भी 20 डॉलर (करीब 1400 रुपये) की फीस वसूलेगा।

वहीं, शाम होते-होते पाकिस्तान विदेश मंत्री शाह मोहम्मद कुरैशी ने कहा, श्रद्धालुओं से दो दिन यानि 9 और 12 नवंबर को शुल्क नहीं लिया जाएगा। कुरैशी ने कहा, करतारपुर गलियारा प्यार का पैगाम देने के लिए है इसमें नफरत की कोई गुंजाइश नहीं हो सकती। पाकिस्तान ने पहले भी 20 डॉलर फीस वसूलने की बात कही थी।

हालांकि बाद में पीएम इमरान खान ने 9 नवंबर को छूट का ऐलान किया था। बृहस्पतिवार को भी सुबह पाक सेना ने पासपोर्ट जरूरी बताया था, मगर शाम होते-होते इमरान सरकार ने कहा कि इसकी जरूरत नहीं है।
दोनों देशों के बीच हुए समझौते के तहत रोज पांच हजार श्रद्धालुओं को दरबार साहिब जाने की अनुमति होगी। इसके लिए उन्हें वीजा नहीं लेना होगा, लेकिन पासपोर्ट जरूरी होगा। करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन शनिवार को होगा।

भारत की तरफ उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे, जबकि पाकिस्तान की ओर इमरान खान इसकी शुरुआत करेंगे। उद्घाटन से पहले पीएम मोदी सुल्तानपुर लोधी पहुंचेंगे और गुरुद्वारा बेर साहिब में मत्था टेकेंगे। इसके बाद वह डेरा बाबा नानक जाएंगे। इसके बाद पाक जाने वाले भारतीय सिख श्रद्धालुओं का जत्था रवाना होगा।

केंद्र सरकार ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी समेत 575 लोगों की सूची को मंजूरी दी है, जो उद्घाटन के बाद गुरुद्वारा दरबार साहिब जाने वाले पहले जत्थे में शामिल होंगे।

 
 

Related posts

Top