दिल्ली हिंसा में हेड कॉन्स्टेबल समेत 4 लोगों की मौत, गृह मंत्री अमित शाह ने संभाली कमान

 
हाइलाइट्स
  • उत्तर-पूर्वी दिल्ली में सोमवार को भड़की हिंसा में 50 से ज्यादा लोग घायल
  • घायलों में डीसीपी शाहदरा सहित 8 पुलिस वाले भी, अस्पतालों में चल रहा इलाज
  • देर शाम गृह मंत्री अमित शाह ने अधिकारियों के साथ की उच्च स्तरीय बैठक

नई दिल्ली
दिल्ली के उत्तर-पूर्वी इलाके में सोमवार को सीएए समर्थक और विरोधी गुटों में हुए हिंसक टकराव में हेड कॉन्स्टेबल और तीन आम नागरिक की मौत के बाद गृह मंत्रालय में देर शाम सचिव स्तर की बैठक हुई, जिसमें दिल्ली में सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा की गई। इस बैठक के बाद गृह राज्यमंत्री जी. किशन रेड्डी ने कहा कि केंद्र सरकार दिल्ली में हिंसा बर्दाश्त नहीं करेगी। खुद गृह मंत्री अमित शाह अब हालात की निगरानी कर रहे हैं।

आपको बता दें कि कई सुरक्षाकर्मियों समेत कम से कम 50 लोग झड़प में घायल हुए हैं। शाहदरा के पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) अमित शर्मा और एसीपी (गोकलपुरी) अनुज कुमार समेत कम से कम 11 पुलिसकर्मी प्रदर्शनकारियों को काबू करने के दौरान घायल हो गए। सीआरपीएफ के दो कर्मी भी इस दौरान घायल हो गए। हिंसा के दौरान प्रदर्शनकारियों ने मकानों, दुकानों, वाहनों और एक पेट्रोल पंप में आग लगा दी और पथराव किया।

गृह राज्यमंत्री रेड्डी ने दिल्ली के पुलिस कमिश्नर को दिल्ली के सभी संवेदनशील स्थानों पर अतिरिक्त पुलिस फोर्स के साथ खुफिया टीमों को अलर्ट मोड में रखने का निर्देश दिया है। उन्होंने राजधानी में हो रही हिंसक घटनाओं पर मीडिया से बातचीत में कहा कि जानबूझकर लोगों को उकसाने की कोशिश हो रही है। लोकतांत्रिक तरीके से लोगों को अपनी भावनाओं को जाहिर करना चाहिए। विरोध के नाम पर पत्थरबाजी, आगजनी और पुलिसवाले की हत्या करना लोकतंत्र की भावना के खिलाफ है। सरकार उसको बर्दाश्त नहीं करेगी। गृह मंत्रालय हालात पर नजर रखे हुए है। ट्रंप के दौरे के समय देश की छवि खराब करने की साजिश रची जा रही है।
अमित शाह ने बुलाई आपात बैठक
उधर, उत्तर-पूर्वी दिल्ली के जाफराबाद में शुरू हुए उपद्रव को तुरंत काबू में करने के लिए उच्चस्तरीय मंथन शुरू हो गया। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने तमाम आला अधिकारियों को आपात बैठक में तलब किया।

बवालियों ने कई वाहनों को किया आग के हवाले

  • बवालियों ने कई वाहनों को किया आग के हवाले

    दिल्ली के जाफराबाद, चांदबाग और मौजपुर में रविवार को हुई हिंसा के बाद सोमवार यमुनापार के कई इलाकों में विरोध प्रदर्शन हिंसक हो गया। भजनपुरा इलाके में सीएए के विरोध में प्रदर्शनकारियों ने एक पेट्रोल पंप को आग के हवाले कर दिया और कई गाड़ियों में आगजनी की है। दिल्ली के यमुनापार इलाके में बवालियों ने जमकर हंगामा किया। कई गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया गया।
  • चांद बाग में पत्थरबाजी और फायरिंग की खबर

    चांदबाग में भी पत्थरबाजी और फायरिंग की खबरें सामने आई हैं। इस बीच उत्तर पूर्वी दिल्ली के कम से कम 10 जगहों पर हिंसा को देखते हुए धारा 144 लगाई गई है। दिल्ली के जाफराबाद में सोमवार को पुलिस के सामने ही करीब आठ राउंड गोलियां चलाई गई हैं।
  • उपद्रवियों ने दुकानों में की आगजनी

    भजनपुरा में भी आगजनी की गई, करीब तीन से चार बाइकों को आग के हवाले कर दिया गया। भजनपुरा थाने के आसपास भी हिंसा की खबर है। करावल नगर में भी हिंसा हुई जिसमें मौके पर तैनात एडिशनल डीसीपी समेत कई पुलिसकर्मी जख्मी हो गए।
  • मौजपुर इलाके में दो गुटों में भिड़ंत

    उपद्रवियों ने घोंडा चौक के पास मिनी बस को आग लगा दी। वहीं मौजपुर इलाके में सोमवार को दो गुटों के बीच भिड़ंत हुई। वहीं दिल्ली में अलग-अलग इलाकों में हुई हिंसा पर पुलिस का बयान सामने आया। दिल्ली पुलिस ने कहा कि मौजपुर, करदमपुरी, चांद बाग और दयालपुर इलाके में हिंसा हुई है।
  • सीलमपुर, जाफराबाद में अशांति की आशंका: पुलिस

    दिल्ली पुलिस के जॉइंट पुलिस कमिश्नर आलोक कुमार ने कहा, ‘पुलिस ने रणनीतिक रूप से ऐसे इलाकों की पहचान कर ली है जहां सीलमपुर, जफराबाद, मौजुपर की तरह अशांति की आशंका है।’
  • वजीराबाद में उपद्रवियों का बवाल

    दिल्ली के वजीराबाद रोड पर चांदबाग में उपद्रवियों ने ठेके में तोड़फोड़ की। इस दौरान उन्होंने दुकान के अंदर से शराब की बोतलें भी सड़कों पर फेंकी।
  • प्रदर्शनकारियों ने फल मंडी में किया जमकर बवाल

    सीएए के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान हंगामा करने वालों ने दिल्ली के कई इलाकों में जमकर तांडव मचाया। फलमंडी में भी काफी आगजनी और तोड़फोड़ की गई।
  • दिल्ली पुलिस ने दी चेतावनी

    दिल्ली पुलिस के अधिकारियों ने दिल्ली के लोगों से शांति बरतने की अपील की है। लोगों को अफवाहों से बचने की सलाह भी दी गई है। इसके साथ ही पुलिस ने उपद्रवियों को कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी है।

 

केंद्रीय गृह सचिव ए.के. भल्ला ने भी हालात पर कड़ी नजर रखे होने की बात कही है। उन्होंने हर हाल में शांति कायम करने के लिए की गई सभी जरूरी व्यवस्थाओं पर संतुष्टि जताई। गृह मंत्रालय के उच्च पदस्थ सूत्रों के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अहमदाबाद पहुंचे अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप और उनके परिवार के स्वागत समारोह में व्यस्त थे। इसी बीच उन्हें दिल्ली के जाफराबाद, भजनपुरा, मौजपुर, दयालपुर, गोकुलपुरी इलाके में दंगे फैलने की खबर मिली। चूंकि अमेरिकी राष्ट्रपति को सोमवार रात में दिल्ली में ठहरना है। लिहाजा, राजधानी की छवि धूमिल होने से बचाने की जरूरत भी महसूस हुई।

आनन-फानन में उत्तर-पूर्वी दिल्ली जिले में बिगड़े हालात को काबू करने की जिम्मेदारी खुद अमित शाह ने अपने हाथों में ले ली है। उच्च पदस्थ सूत्रों से मिली जानाकारी के मुताबिक, सोमवार को शाम ढलते केंद्रीय गृह मंत्री ने एक आपात बैठक बुलाई। बैठक में केंद्रीय गृह सचिव एके भल्ला सहित दिल्ली के उप-राज्यपाल अनिल बैजल और दिल्ली पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक को सख्त हिदायत दी गई कि किसी भी तरह से जल्दी से जल्दी हालात पर काबू पाएं।

“संशोधित नागरिकता कानून को लेकर हिंसा में दिल्ली पुलिस के हेड कॉन्स्टेबल का मारा जाना अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की यात्रा के दौरान भारत को शर्मिंदा करने की एक चाल है। हेड कॉन्स्टेबल रतनलाल को क्रूर और बर्बर तरीके से मारे जाने की खबर सुनकर स्तब्ध हूं। यह मुझे क्लिंटन की यात्रा के दौरान छत्तीसिंहपुरा में सिखों के नरसंहार की याद दिलाता है। घटनाएं बदल जाती हैं, लेकिन भारत विरोधी ताकतें वैसी ही रहती हैं। यह भारत को शर्मिंदा करने की चाल है। सभी से शांत रहने और शांति बनाए रखने की अनुरोध करती हूं।”-मीनाक्षी लेखी, नई दिल्ली लोकसभा सीट से बीजेपी सांसद

गृह सचिव बोले- सतर्क रहें पुलिस और अर्धसैनिक बल
केंद्रीय गृह सचिव भल्ला ने देर शाम बताया, ‘उत्तर पूर्वी दिल्ली के हालात पर पैनी नजर रखी जा रही है। काफी हद तक स्थिति नियंत्रण में आ चुकी है। पुलिस और अर्धसैनिक बलों को सतर्क रहने को कहा गया है। साथ ही अगर जरूरत महसूस हुई तो केंद्र सरकार अन्य कड़े कदम उठाने से भी नहीं चूकेगी। हमारा मकसद हर हाल में शांति कायम करना है।’

CAA: दिल्ली में भारी बवाल, पुलिस के सामने 8 राउंड फायरिंग

CAA: दिल्ली में भारी बवाल, पुलिस के सामने 8 राउंड फायरिंगनॉर्थ ईस्ट दिल्ली में रविवार को शुरू हुए हिंसक प्रदर्शन आज भी रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं। अब इसकी चिंगारी मानों आसपास के अन्य इलाकों में भी पहुंच गई। आज सीलमपुर में गोलियां चलीं। भजनपुरा में आगजनी की खबरें हैं। कई बाइक्स को फूंक दिया गया। हिंसा के दौरान का एक विडियो भी आया है। इसमें शख्स ने पुलिसवाले के सामने गोलियां चलाई हैं। विडियो में दिख रहा है कि शख्स पुलिसवाले के सामने बंदूक लेकर बढ़ता है। पुलिसवाले के रोकने के बावजूद वह वहां गोलियां चला देता है। खबरों के मुताबिक, उसने 8 गोलियां चलाई थीं। गोली चालनेवाले शख्स को सीएए के खिलाफ धरने पर बैठा हुआ बताया जा रहा है। प्रदर्शन के चलते हिंसा अब आसपास के इलाकों में भी फैल चुकी है। भजनपुरा के पास चांदबाग में सीएए के खिलाफ धरनास्थल पर पत्थरबाजी हो रही है। ऐसी खबरें हैं कि यहां भी फायरिंग हुई है।

9 इलाके छावनी में तब्दील
दिल्ली के उन संवेदनशील स्थानों पर भारी पुलिस फोर्स की तैनाती की जा रही है जहां भीड़ के हिंसक होने की आशंका है। मौजपुर, जाफराबाद, सीलमपुर, गौतमपुरी, भजनपुरा, चांद बाग, मुस्तफाबाद, वजीराबाद और शिव विहार जैसे संवेदनशील स्थानों पर पुलिस तैनात की गई है। स्पेशल कमिश्नर ऑफ पुलिस (क्राइम) सतीश गोलचा ने कहा कहा, ‘हम कानून और व्यवस्था बनाए रखने की कोशिश कर रहे हैं। हम सभी से अनुरोध कर रहे हैं कि कानून और व्यवस्था बनाए रखने में दिल्ली पुलिस का समर्थन करने के लिए आगे आएं। हमारे अधिकारी शांति कायम करने के लिए पैदल मार्च और सभाएं कर रहे हैं।’

हेड कॉन्स्टेबल समेत 4 लोगों की मौत
सूत्रों के मुताबिक, ‘केंद्रीय गृहमंत्री द्वारा सीलमपुर, जाफराबाद, मौजपुर, करावल नगर और भजनपुरा-गोकुलपुरी में हुए दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस की भी अब नींद टूटी है। यह अलग बात है कि जब तक दिल्ली पुलिस अलर्ट मोड़ में आई, तब तक उसका एक बेकसूर हवलदार रतन लाल भीड़ की भेंट चढ़ चुका था।’ इसके अलावा शाहदरा के डीसीपी अमित कुमार घायल हो गए। हिंसा में मोहम्मद फुरकान नामक शख्स और 2 अन्य आम आदमी की भी जान चली गई है। इस तरह कॉन्स्टेबल समेत 4 लोग भीड़ की भेंट चढ़ गए।

उल्लेखनीय है कि शनिवार-रविवार से धीरे-धीरे फैली दंगों की आग ने सोमवार को विकराल रूप धारण कर लिया। सीएए के विरोध और पक्ष में जुटी भीड़ आमने-सामने आ गई। दोनों तरफ से जमकर पथराव और फायरिंग हुई। सोमवार को दोपहर बाद सीएए विरोधी भीड़ में से निकले एक युवक सीएए समर्थकों की भीड़ पर तमंचे से गोली चला दी, जिससे हड़कंप मच गया। गोली चलाने वाला युवक भीड़ का फायदा उठाकर मौके से फरार हो गया। मौके पर मौजूद प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, गोली एक युवक के पांव में लगी है। उसे अस्पताल में दाखिल कराया गया है।

 
 

Related posts

Top