मध्य प्रदेश में दिखा कर्नाटक का असर, जबलपुर में बजरंग दल ने कांग्रेस कार्यालय में की तोड़फोड़

मध्य प्रदेश में दिखा कर्नाटक का असर, जबलपुर में बजरंग दल ने कांग्रेस कार्यालय में की तोड़फोड़

भोपाल। कर्नाटक में विधानसभा चुनाव को लेकर गर्मायी सियासत का नाजारा अब मध्य प्रदेश में भी दिखाई दे रहा है। बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने गुरुवार को जबलपुर स्थित कांग्रेस के कार्यालय पर जमकर तोड़फोड़ की। जिसका वीडियो भी सामने आया।

दरअसल, कांग्रेस ने बजरंग दल की तुलना प्रतिबंधित इस्लामिक संगठन पापुलर फ्रंट आफ इंडिया (PFI) से करते हुए कहा था कि सत्ता में आने पर इस संगठन पर प्रतिबंध लगाया जाएगा।

कांग्रेस कार्यालय में जमकर हुई तोड़फोड़

बकौल एजेंसी वीडियो में देखा जा सकता है कि कांग्रेस कार्यालय में बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने जमकर उत्पाद मचाया और जमकर तोड़फोड़ की।

 

इसी बीच कांग्रेस ने बजरंग दल पर जमकर निशाना साधा। पार्टी नेता केके मिश्रा ने कहा कि बजंरग दल तोड़फोड़, हत्या, गुंडागर्दी और गर्ब में महिलाओं की पहचान की जांच करता है। तब मुख्यमंत्री कहते हैं कि बजरंग दल राष्ट्रवादी है।

”एक सर्कुलर जारी करें CM”

उन्होंने कहा कि अभी 24 घंटे भी नहीं हुए हैं, उन्हें बताना चाहिए कि क्या उनके राष्ट्रवादी इस तरह की हरकत करते हैं। अगर बजरंग दल राष्ट्रवादी है तो मुख्यमंत्री को एक सर्कुलर जारी करना चाहिए कि सभी मंत्रियों के बच्चे बजरंग दल में शामिल हों।

क्या बोले थे मुख्यमंत्री शिवराज

बजरंग बली और बजरंग दल को लेकर मचे घमासान को लेकर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस पर हमला बोला था। उन्होंने कहा था कि कांग्रेस की मति मारी गई है, जो वह बजरंग दल पर प्रतिबंध लगाने की बात कर रही है। वह बजरंग दल, जो प्रखर राष्ट्रवादी संगठन है। वह बजरंग दल जो आतंकवाद का विरोध करता है, लव जिहाद का विरोध करता है।

उन्होंने कहा था कि ये वही कांग्रेस है, जो अयोध्‍या में भगवान राम के मंदिर निर्माण का विरोध करती थी। ये वही कांग्रेस है, जिसने रामसेतु को काल्‍पनिक कहा था।

व्हाट्सएप पर समाचार प्राप्त करने के लिए यंहा टैप/क्लिक करे वीडियो समाचारों के लिए हमारा यूट्यूब चैनल सबस्क्राईब करे