ब्लड शुगर टेस्ट स्ट्रिप सस्ते में प्राप्त करे
Dr. Morepen BG-03 Blood Glucose Test Strips, 50 Strips (Black/White)

हाथरस मामले में डीएमके सांसद कनिमोझी ने कहा- जो भी हुआ उसे छिपाने की कोशिश कर रही यूपी सरकार

 

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के हाथरस मामले में योगी सरकार पर दबाव बढ़ता ही जा रहा है। पश्चिम बंगाल से लेकर दक्षिण भारत तक इस मामले को लेकर लोगों व राजनीतिक दलों में रोष का माहोल है। द्रविड मुनेत्र कड़गम (डीएमके) की सांसद कनिमोझी करुणानिधि ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार हाथरस मामले जो भी हुआ उसे छिपाने की कोशिश कर रही है। पुलिस द्वारा पीड़िता का किया गया अंतिम संस्कार और पत्रकारों पर हमले की उन्होंने कड़ी निंदा की है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि यह बहुत ही गलत बात है कि वहां जाने वाले राजनीतिक नेताओं पर भी हमला किया जा रहा है।

वहीं, कांग्रेस नेता व उत्तर प्रदेश की महासचिव प्रियंका गांधी वाडरा और राहुल गांधी ने कल ही पीड़िता के परिवार से मुलाकात की थी। आज प्रियंका ने ट्वीट कर कहा कि हाथरस के पीड़ित परिवार के अनुसार सबसे बुरा बर्ताव डीएम का था। उन्हें कौन बचा रहा है? उन्हें अविलंब बर्खास्त कर पूरे मामले में उनके रोल की जांच होनी चाहिए। परिवार न्यायिक जांच मांग रहा है तब क्यों सीबीआइ जांच का हल्ला करके एसआइटी की जांच जारी है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार यदि जरा भी नींद से जागी है तो उसे परिवार की बात सुननी चाहिए।

बता दें कि हाथरस के बूलगढ़ी गांव की मृत युवती के परिवारीजन से मिलने के लिए राजनैतिक दलों के पांच नेताओं के प्रतिनिधिमंडल को मिलने की अनुमति का निर्देश अब जिला व पुलिस प्रशासन पर भारी पड़ रहा है।समाजवादी पार्टी तथा राष्ट्रीय लोकदल के नेताओं के प्रतिनिधिमंडल के साथ आए कार्यकर्ताओं पर पुलिस को लाठी चार्ज करना पड़ा है। इसी बीच भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर भी समर्थकों के साथ गांव की ओर बढ़े और उनकी भी पुलिस वालों के साथ झड़प हुई है। इससे पहले आरएलडी राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयंत चौधरी सैकड़ों कार्यकर्ताओं के साथ गांव बूलगढ़ी पहुंचे, यहां कार्यकर्ताओं की पुलिस से झड़प हो गई।

 
 

Related posts

Top