कोरोना वायरस का खौफ: महाराष्ट्र और पंजाब समेत 4 राज्यों में कर्फ्यू, दिल्ली में सख्ती के आदेश

 

नई दिल्ली
कोरोना वायरस वाले शहरों में तालेबंदी के ऐलान के बावजूद भी सोमवार को लोग घरों में रहने को तैयार नहीं दिखे। इस कारण से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लॉकडाउन पर अमल करवाने की राज्यों से अपील करनी पड़ी। इस पर कदम भी उठे। पहले पंजाब, पुडुचेरी और फिर महाराष्ट्र ने अपने यहां कर्फ्यू का ऐलान कर दिया, जबकि सोमवार को सीएम पद संभालने वाले शिवराज सिंह चौहान ने देर रात भोपाल और जबलपुर में कर्फ्यू लगाने की बात कही।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने भी कहा कि अफसर तालेबंदी का सख्ती से पालन करवाएं और नियम तोड़ने वालों पर कानूनी कार्रवाई की जाए। इसी दिशा में कदम बढ़ाते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि लोग मंगलवार से लॉकडाउन के नियमों का पालन करें। अगर नियम टूटे तो सरकार को सख्ती करनी पड़ेगी। सरकार ने पूरी ताकत लगा दी है, आप भी मदद करें। दिल्ली में अभी वायरस के 30 केस हैं।

इनमें से 23 विदेश से आए हैं यानी दिल्ली के सिर्फ 7 में इन 23 से वायरस पहुंचा है। उन्होंने अपील की कि लोग अपने यहां काम करने वालों का पैसा न काटें। हो सके तो कुछ अडवांस दे दें। मकान मालिक किराया कुछ वक्त के लिए टाल दें। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सोमवार को कहा कि 19 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में पूरी तरह तालाबंदी है।

यहां पूरी तरह से लॉकडाउन
6 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के कुछ हिस्सों को इस दायरे में रखा गया है। सोमवार को तमिलनाडु, हिमाचल, हरियाणा, मणिपुर, असम, उत्तराखंड और झारखंड जैसे राज्यों ने 31 मार्च तक पूरी तरह से लॉकडाउन का ऐलान किया। इस दौरा धारा 144 भी लागू रहेगी। यह पाबंदी 1897 के एपिडेमिक डिजीज ऐक्ट के तहत लागू की जा रही है, जिसके उल्लंघन पर 6 महीने जेल या फिर 1000 रुपये जुर्माना, या फिर दोनों ही सजाओं का प्रावधान है।

कोरोना वायरस से बचाव के लिए हरियाणा में मुख्यमंत्री खट्टर ने किया लॉकडाउन का ऐलान

कोरोना वायरस से बचाव के लिए हरियाणा में मुख्यमंत्री खट्टर ने किया लॉकडाउन का ऐलानकोरोना वायरस के प्रकोप से भारत समेत पूरा विश्व जूझ रहा है। देश में कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़कर 387 हो गई है। इसी को देखते हुए दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान, चंडीगढ़, आंध्र प्रदेश, झारखंड समेत कई राज्यों में लॉकडाउन घोषित किया गया है=

देश के अंदर भी नहीं उड़ेंगे विमान
ट्रेन और मेट्रो के बाद अब घरेलू उड़ानों पर पाबंदी लगी है। आज मंगलवार आधी रात 12 बजे के बाद कोई घरेलू फ्लाइट नहीं उड़ेगी। केंद्र सरकार ने सोमवार को आदेश जारी किया कि मंगलवार रात 11:59 बजे के बाद कोई विमान उड़ान नहीं भरेगा। आदेश में जिक्र नहीं है कि पाबंदी कब तक रहेगी। हालांकि कार्गो विमान उड़ते रहेंगे। दिल्ली सरकार ने रविवार को ही इस रोक का ऐलान किया था, लेकिन थोड़ी देर बाद केंद्र ने IGI एयरपोर्ट से घरेलू उड़ानों को जारी रहने का सर्कुलर जारी किया था। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार को सभी घरेलू उड़ानों पर पाबंदी का फैसला लेना पड़ा। विदेश से आने वाले विमानों पर रविवार से ही पाबंदी है।

COVID-19: भारत में कोरोना वायरस के कुल मामले बढ़कर 433 हुए

COVID-19: भारत में कोरोना वायरस के कुल मामले बढ़कर 433 हुएकोरोना वायरस के प्रकोप से भारत समेत पूरा विश्व जूझ रहा है। देश में कोरोना के कुल मामले बढ़कर 433 हो गए हैं और अब तक 9 लोगों की मौत हो चुकी है। इसी को देखते हुए दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान, पंजाब, चंडीगढ़, आंध्र प्रदेश, झारखंड समेत कई राज्यों में लॉकडाउन घोषित किया गया है।

दोनों सदन अनिश्चितकाल के लिए टल गए
महामारी को देखते हुए संसद के दोनों सदन सोमवार को अनिश्चितकाल के लिए टल गए। हाई कोर्ट समेत दिल्ली की सभी अदालतें 4 अप्रैल तक बंद हैं। सुप्रीम कोर्ट में दो बेंच विडियो कॉन्फ्रेंसिंग से सुनवाई करेंगी। सुप्रीम कोर्ट ने सभी राज्यों से उन कैदियों को 4 से 6 हफ्तों के परोल पर छोड़ने पर विचार करने को कहा है, जो 7 साल या इससे कम की सजा भुगत रहे हैं या फिर इतनी सजा के मामलों में विचाराधीन है।

 
 

Related posts

Top