बिहार में लग सकता है 15 मई तक पूर्ण लॉकडाउन, CM नीतीश आपदा प्रबंधन की बैठक में आज करेंगे फैसला

बिहार में लग सकता है 15 मई तक पूर्ण लॉकडाउन, CM नीतीश आपदा प्रबंधन की बैठक में आज करेंगे फैसला
  • मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार आज आपदा प्रबंधन समू‍ह (क्राइसिस मैनेजमेंट) की बैठक करेंगे. ऐसा माना जा रहा है कि इस बैठक में बिहार में 15 मई तक लॉकडाउन लगाने का फैसला लिया जा सकता है.

पटना: बिहार में कोरोना वायरस की दूसरी लहर का कहर जारी है. दूसरे लहर के दौरान कोरोना छोटे शहरों, कस्बों और गांवों में बेकाबू हो चुका है. राज्य में दिनों दिन हालात बिगड़ते जा रहे हैं. हर नए दिन कोरोना संक्रमण रिकॉर्ड तोड़ रहा है. ऐसे में संक्रमण की रोकथाम के लिए नीतीश कुमार की सरकार राज्य में पूर्ण लॉकडाउन लगा सकती है. मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार आज आपदा प्रबंधन समू‍ह (क्राइसिस मैनेजमेंट) की बैठक करेंगे. ऐसा माना जा रहा है कि इस बैठक में बिहार में 15 मई तक लॉकडाउन लगाने का फैसला लिया जा सकता है.

बैठक सुबह 11.30 बजे होगी

बिहार में कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने की तमाम कोशिशें अब तक नाकामयाब हुई हैं. कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. जिस वजह से इंडियन मेडिकल एसोसिएशनयानी आइएमए के डॉक्‍टर, पटना एम्‍स के डॉक्‍टर, कैट (CAIT) से जुड़े व्‍यवसायी और कई तबके लोग राज्य में लॉकडाउन की मांग कर रहे हैं. लिहाजा कोरोना की रोकथाम के लिए कई नए आदेश जारी किए जा सकते हैं. संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए सरकार आज पूर्ण लॉकडाउन का फैसला भी ले सकती है. बैठक सुबह 11.30 बजे होगी.

सोमवार को पटना हाईकोर्ट ने जताई नाराजगी

हाईकोर्ट ने भी बिहार में कोरोना संक्रमण से बिगड़ते हालातों पर अपनी नाराजगी जाहिर कर चुका है. सोमवार को न्यायमूर्ति चक्रधारी शरण सिंह और न्यायमूर्ति मोहित कुमार शाह की खंडपीठ ने नीतीश सरकार से पूछा कि बिहार में लॉकडाउन लगाने की क्या तैयारी है. अब तक राज्‍य में पूर्ण लॉकडाउन लगाया जाएगा. हाईकोर्ट ने सुनवाई करते हुए सरकार के सिस्टम को फ्लॉप बताया था. साथ ही राज्य सरकार से इस मसले पर मंगलवार यानी आज जवाब देने को कहा.

नीतीश कुमार की अधिकारियों को दो टूक

हालांकि सोमवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कोविड-19 से बचाव के लिए किए जा रहे कार्यो की उच्चस्तरीय समीक्षा बैठक की. इस बैठक में उन्होंने कोरोना प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करवाने का निर्देश देते हुए कहा कि पुलिस और प्रशासन बेवजह घरों से निकलने वालों पर नजर रखे, जिससे कोरोना फैलाव को रोका जा सके. मुख्यमंत्री ने बैठक में कहा कि कोरोना के मामले दिन प्रतिदिन बढ रहे हैं. इसको लेकर सक्रिय रहने की जरूरत है. मुख्यमंत्री ने गांव-गांव तक कोरोना संक्रमित के प्रति लोगों सतर्क और सजग करने के लिए निरंतर अभियान चलाने पर जोर देते हुए कहा कि कोरोना के फैलाव को लेकर लोगों को सचेत करें.

सोमवार को बिहार में कोरोना के 11407 नए मामले

आपको बता दें कि सोमवार को बिहार में कोरोना संक्रमण के 11407 नए मामले सामने आए. जबकि 82 मरीजों की मौत भी हुई. नए मामले सामने आने के बाद राज्य में कोरोना के एक्टिव (सक्रिय) मरीजों की संख्या 1,07,667 पहुंच गई. स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी रिपोर्ट के मुताबिक, सोमवार को राज्य में संक्रमण के 11,407 नए मामलों की पुष्टि हुई. राजधानी पटना में सर्वाधिक 2,028 नए संक्रमित मिले, जबकि गया में 662, बेगूसराय में 510, वैशाली में 1,035, पश्चिमी चंपारण 549 तथा मुजफ्फरपुर 653 नए कोरोना संक्रमित मिले. राज्य में एक दिन में कुल 72,658 नमूनों की जांच की गई.


पत्रकार अप्लाई करे Apply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *