Yashoda Jayanti Pujan Vidhi: आज मां यशोदा जयंती पर इस तरह करें पूजा, मिलता है हर परेशानी से छुटकारा

Yashoda Jayanti Pujan Vidhi: आज मां यशोदा जयंती पर इस तरह करें पूजा, मिलता है हर परेशानी से छुटकारा

Yashoda Jayanti Pujan Vidhi: हर वर्ष फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की षष्ठी तिथि को मां यशोदा की जयंती मनाई जाती है। इस दिन मां यशोदा का जन्मदिन मनाया जाता है। इस दिन पूरे विधि-विधान के साथ मां यशोदा की पूजा की जाती है। श्रीकृष्ण का जन्म को माता देवकी की कोख से हुआ था लेकिन उनका लालन-पोणष मां यशोदा द्वारा किया गया था। ऐसे में इस दिन मां यशोदा के गोद में बैठे हुए श्रीकृष्ण की प्रतिमा की पूजा की जाती है। इस दिन यशोदा जी की गोद में बैठे हुए कृष्ण जी की पूजा की जाती है। ऐसा करने से संतान संबंधित सभी परेशानियां दूर हो जाती हैं। साथ ही सभी मनोकामनाएं भी पूर्ण हो जाती हैं। आइए जानते हैं यशोदा जयंती पर कैसे करें पूजा।

यशोदा जयंती पर इस तरह करें पूजा:

  • इस दिन सुबह सवेरे उठकर सभी नित्यकर्मों से निवृत्त होकर स्नानादि कर लेना चाहिए। इसके बाद साफ वस्त्र पहनें और माता यशोदा का ध्यान करें।
  • इसके बाद मां यशोदा की श्रीकृष्ण की गोद में लिए हुए फोटो या प्रतिमा को स्थापित करें।
  • अगर आपके पास इस तरह की तस्वीर नहीं है तो आप कृष्ण जी की तस्वीर के सामने दीपक जलाएं।
  • इसके बाद माता यशोदा को लाल चुनरी चढ़ाएं। फिर उन्हें मिष्ठान का भोग लगाएं और कृष्ण जी को मक्खन का भोग अर्पित करें।
  • फिर मां यशोदा और कृष्ण जी की आरती करें। इसके बाद गायत्री मंत्र का जाप करें।
  • पूजा पूरी होने के बाद व्यक्ति को अपनी मनोकामना पूर्ति की प्रार्थना करनी चाहिए।

यशोदा जयंती का शुभ मुहूर्त:

4 मार्च, गुरुवार

षष्ठी तिथि शुरु- 4 मार्च, गुरुवार रात 12 बजकर 21 मिनट से

षष्ठी तिथि समाप्त- 4 मार्च, गुरुवार रात 9 बजकर 58 मिनट पर

यह भी पढे >> 04 मार्च 2021 का राशिफल: मीन राशि वालों को सुखद समाचार मिलेगा, बिजनेस में (24city.news)


पत्रकार अप्लाई करे Apply