यूपी: राशन खत्म हुआ तो घर में दो दिन तक भूखा-प्यासा पड़ा रहा मजदूर का परिवार, पुलिस ने ऐसे की मदद

 

कोरोना वायरस जैसी घातक बीमारी के पूरा देश लाॅकडाउन कर दिया गया है।  इससे पहले मेरठ में एक दिन का लाॅकडाउन रहा वहीं सोमवार को जनता कर्फ्यू के दौरान लोग घरों में कैद रहे। इन दो दिन के दौरान शहर के कंकरखेड़ा क्षेत्र में एक मजदूर का परिवार भूख प्यास से तड़पता हुआ घर में ही पड़ा रहा। बुधवार को मजदूर थाने पहुंचा जहां उसने पुलिस से मदद की गुहार लगाई। पुलिस ने उसकी न सिर्फ मदद की बल्कि उसके घर राशन भी पहुंचवाया।

कंकरखेडा के लाला मोहम्मदपुर गांव का रहने वाले मजदूर इमरान पुत्र हकीमुद्दीन के घर में दो दिन से खाना बनाने के लिये राशन तक नहीं था। उसका पूरा परिवार दो दिन से भूखा प्यासा घर के अंदर कैद था। बुधवार सुबह इमरान अपनी पत्नी आशिमा, दो बेटों और दो बेटियों के साथ कंकरखेडा थाने पहुंचा। जहां उसने कंकरखेड़ा थाना प्रभारी को अपनी व्यथा सुनाई।

उसने बताया कि मजदूरी न चल पाने के कारण उसका पूरा परिवार दो दिन से भूखा है, उसके घर में खाना बनाने के लिए कोई भी राशन नहीं है उसके बच्चे बहुत परेशान हैं। इस तरह तो वह और उसका परिवार जिंदा नहीं रह पाएगा।

मजदूर का दर्द सुनकर थाना प्रभारी बिजेन्द्र पाल सिंह राणा ने उसकी बात सुनकर उसके पूरे परिवार को अपने ऑफिस में बैठाया और तुरंत अपने घर से राशन मंगाकर दिया। थाना प्रभारी ने अपनी तरफ से इमरान को पांच सौ रुपये भी दिये।

थाना प्रभारी ने उससे कहा कि तुम परेशान मत हो, घर पर पहुंचकर अपने बच्चों को खाना बनाकर खिलाओ और आगे भी तुम्हारी मदद करी जाएगी। इमरान और उसके पूरे परिवार के सभी सदस्यों ने थाना प्रभारी बिजेन्द्र पाल सिंह राणा का शुक्रिया अदा किया। वहीं थाना प्रभारी की इस पहल की हर तरफ तारीफ की जा रही है।

 
 

Related posts

Top