रणखंडी व नूरपुर के ग्रामीणों ने की आरक्षित सीट बदलने की मांग

रणखंडी व नूरपुर के ग्रामीणों ने की आरक्षित सीट बदलने की मांग
  • शुक्रवार को ठाकुर बाहुल्य गांव रणखण्डी और ग्राम पंचायत नूरपुर के ग्रामीणों ने प्रमुख सचिव (पंचायत राज) को एसडीएम के माध्यम से ज्ञापन भेजकर आरक्षित सीट को बदले जाने की मांग की हैं।

देवबंद [24CN] ।  त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव हेतु शासन द्वारा जारी की गई आरक्षण सूचि पर आपत्तियां सामने आने लगी हैं। शुक्रवार को गांव रणखंडी के ग्रामीणों ने एसडीएम राकेश कुमार के माध्यम से जिला निर्वाचन अधिकारी पंचायत को भेजे ज्ञापन में कहा गया है कि गांव में मतदाताओं की संख्या कुल 9800 है। जिनमें जनरल की संख्या 8800 है और मात्र 500 अनुसूचित जाति व 500 पिछड़ी जाति के हैं। ज्ञापन में कहा गया है कि जारी आरक्षण सूचि में गांव को गलत तरीके से अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित कर दिया गया है, जबकि सभी गांव वाले इस बात पर सहमत हैं कि इस बार सीट किसी भी वर्ग के लिए आरक्षित न हो। ज्ञापन में ग्राम पंचायत रणखंडी को समान्य सीट घोषित किए जाने की मांग की गई है।

उधर, ग्राम पंचायत नूरपुर के ग्रामीणों ने प्रमुख सचिव पंचायत राज को भेजे ज्ञापन में कहा है कि जारी आरक्षण नीति से प्रदेश का मतदाता क्षुब्ध और गुस्से में है। उक्त व्यवस्था से प्रत्येक पंचायत क्षेत्र का सुचारू क्रम गड़बड़ा गया है। जहां बहुसंख्यक मतदाता हैं वहां अतिअल्प या अल्पसंख्यक को आरक्षित कर दिया गया है। सामान्य में सभी वर्गों को छूट होने के कारण समान्य वर्ग के हितों पर प्रतिकूल प्रभाव होगा। ज्ञापन में ग्राम पंचायत नूरपुर को एससी आरक्षित सीट से परिवर्तित कर पुरुष अनारक्षित सीट किए जाने की मांग की गई है।


पत्रकार अप्लाई करे Apply