कोरोना का असर: अब देश भर में चलेंगे जनसाधारण एक्सप्रेस स्पेशल!

 

 

  • देश भर में जनसाधारण एक्सप्रेस स्पेशल ट्रेन चलाने की तैयारी में रेलवे
  • इन ट्रेनों में पेंट्री कार की व्यवस्था नहीं होगी, साथ ही एक डिब्बे से दूसरे डिब्बे में नहीं जा पाएंगे
  • इन ट्रेनों में यात्रा के लिए IRCTC से रिजर्वेशन कराना होगा

नई दिल्ली
गरीब मजदूरों के लिए श्रमिक स्पेशल और अमीरों के लिए राजधानी स्पेशल चलाने के बाद अब रेलवे देश भर में जनसाधारण स्पेशल ट्रेन चलाने की तैयारी में है। बताया जाता है कि इस तरह की ट्रेन में सिर्फ सेकेंड क्लास या जनरल डिब्बे होंगे और पेंट्री कार नहीं होंगे। यह ट्रेन पूरी तरह से रिजर्व होंगे और इसके लिए टिकट आईआरसीटीसी की वेबसाइट से कटाना होगा।

थोड़ी अलग होगी यह जनसाधारण स्पेशल

रेलवे से जुड़े एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि रेलवे अब देश भर में जनसाधारण स्पेशल ट्रेन चलाने की तैयारी में है। यह ट्रेन पहले से चल रहे जनसाधारण एक्सप्रेस की तरह ही होंगे। इस ट्रेन में सेंकेंड क्लास के डिब्बे लगेंगे और पेंट्री कार की व्यवस्था नहीं होगी। अभी तक जनसाधारण एक्सप्रेस में यात्रा करने के लिए सिर्फ सेकेंड क्लास का टिकट लेना होता था लेकिन जनसाधारण स्पेशल उनसे इस मायने में अलग होगी।

रिजर्व टिकट लेना होगा
अधिकारी का कहना है कि जो जनसाधारण एक्सप्रेस स्पेशल चलाने की योजना बन रही है, उसमें रहेंगे तो सेकेंड क्लास के ही डिब्बे, लेकिन उसमें यात्रियों को आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर रिजर्वेशन कराना होगा। उनका कहना है कि भारतीय रेल में पहले से ही गोमती एक्सप्रेस, आगरा और नई दिल्ली के बीच चलने वाली इंटरसिटी एक्सप्रेस, नई दिल्ली से अमृतसर के बीच चलने वाली शाने पंजाब एक्सप्रेस समेत कई ट्रेनों में इस तरह से सेकेंड क्लास का रिजर्व टिकट काटने की व्यवस्था थी। उसी तरह से जनसाधारण स्पेशल में भी रिजर्व टिकट से ही बुकिंग की जाएगी।

पेंट्री कार की व्यवस्था नहीं होगी
रेलवे बोर्ड के अधिकारी अभी जो विचार बना रहे हैं, उसके मुताबिक जनसाधारण एक्सप्रेस स्पेशल में पेंट्री कार की व्यवस्था नहीं होगी। उनका कहना है कि अभी तक देश में जितनी जनसाधारण एक्सप्रेस चल रही थीं, उनमें किसी में भी पेंट्री कार की व्यवस्था नहीं है। इसलिए इसमें भी नहीं होगी।

पेंट्री कार नहीं हुई तो होगी दिक्कत
भले ही पहले से चलने वाली जनसाधारण एक्सप्रेस में पेंट्री कार नहीं हो, लेकिन उसमें रेलगाड़ियों में चलने वाले वैध—अवैध वेंडर घूम घूम कर पूड़ी सब्जी, चना—चबेना आदि बेचते थे। यह नहीं, स्टॉपेज वाले स्टेशनों में भी खाना पानी बिकता था, जिससे यात्रियों का काम चल जाता था। लेकिन अभी तो देश भर में कंप्लीट लॉकडाउन है। ऐसी स्थिति को देखते हुए कुछ अधिकारी का कहना है कि यात्रियों को खाना—पानी देने की व्यवस्था तो होगी। इसका स्टेशन पर कुछ इंतजाम किया जा सकता है। हो सकता है कि कम से कम उन ट्रेनों में जो 12 घंटे से ज्यादा का सफर करते हों, पेंट्री कार लगाया जाए।

एक डिब्बे से दूसरे डिब्बे में जाने की नहीं होगी सुविधा
अधिकारी बताते हैं कि इन जनसाधारण स्पेशल ट्रेन में जो डिब्बे लगाये जाएंगे, उनमें एक डिब्बे से दूसरे डिब्बे में जाने की सुविधा नहीं होगी। कोशिश की जाएगी कि वैसे ही डिब्बे लगायें जाएं। यदि किसी डिब्बे में बीच का रास्ता खुला होगा तो उसे भी चलाने से पहले लॉक कर दिया जाएगा।

 
 

Related posts

Top