ब्लड शुगर टेस्ट स्ट्रिप सस्ते में प्राप्त करे
Dr. Morepen BG-03 Blood Glucose Test Strips, 50 Strips (Black/White)

बढ़ती आपराधिक घटनाओं के खिलाफ जिला मुख्यालय पर दिया धरना

 
Saharanpur
  • सहारनपुर में धरना देते बहुजन मुक्ति मोर्चा के पदाधिकारी।

सहारनपुर [24CN]। बहुजन क्रांति मोर्चा के बैनर तले विभिन्न संगठनों के कार्यकर्ताओं ने प्रदेशव्यापी अभियान के तहत प्रदेश में बढ़ रही आपराधिक घटनाओं के खिलाफ जिला मुख्यालय पर नारेबाजी कर धरना दिया तथा अपराधों पर अंकुश लगाए जाने की मांग की। हकीकत नगर स्थित धरना स्थल पर बहुजन क्रांति मोर्चा के बैनर तले बहुजन मुक्ति पार्टी, राष्ट्रीय मूल निवासी महिला संघ, भारत मुक्ति मोर्चा, राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग मोर्चा, राष्ट्रीय किसान मोर्चा, भारतीय विद्यार्थी मोर्चा, राष्ट्रीय मुस्लिम मोर्चा, भारतीय बेरोजगार मोर्चा, राष्ट्रीय अति पिछड़ा वर्ग मोर्चा, इंडियन मेडिकल प्रोफेशन एसोसिएशन एससी/एसटी लॉयर एसोसिएशन के संयुक्त धरने को सम्बोधित करते हुए बहुजन क्रांति मोर्चा के जिला संयोजक मोहकम सिंह ने कहा कि उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के शासनकाल में प्रदेश में कानून का राज समाप्त हो गया है। प्रदेश में लूट, हत्या, गैंगरेप कर हत्या करने की घटनाएं दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही हैं।
प्रदेश में प्रतिदिन कहीं न कहीं गैंगरेप कर हत्या करने की घटनाएं सामने आ रही है। उन्होंने कहा कि विगत 14 सितम्बर को हाथरस में अनुसूचित जाति की बेटी के साथ चार दबंगों द्वारा गैंगरेप किया गया तथा बाद में उसकी रीढ़ की हड्डी तोड़कर जीभी भी काट दी गई जिसकी उपचार के दौरान मौत हो गई। उन्होंने कहा कि प्रशासन ने पीडि़ता के परिवार की अनुपस्थिति में रात्रि ढाई बजे उसका अंतिम संस्कार कर दिया। उन्होंने आरोप लगाया कि योगी आदित्यनाथ के इशारे पर जिलाधिकारी ने पीडि़ता के पिता को धमकी देकर बयान बदलवा लिया जो शर्मनाक है।
उन्होंने कहा कि आजमगढ़ के बांस गांव के प्रधान सत्यदेव जयते का हत्यारोपी सूर्यांश दुबे खुलेआम घूम रहा है तथा क्षेत्र में रंगदारी वसूल कर रहा है। उन्होंने सत्यदेव जयते के हत्यारों को गिरफ्तार कर फांसी की सजा दिलाने की मांग की। बहुजन मुक्ति पार्टी के जिलाध्यक्ष कुलदीप लहरी ने कहा कि पिछले 14 सितम्बर को किसानों के विरोध में केंद्र सरकार के तीन अध्यादेशों के खिलाफ राष्ट्रीय किसान मोर्चा के माध्यम से देशव्यापी आंदोलन किया गया था। इस आंदोलन में संत कबीरनगर, बाराबंकी, प्रतापगढ़, इटावा समेत कुछ जिलों में किसानों के ऊपर फर्जी मुकदमें दर्ज किए गए हैं। उन्होंने किसानों पर दर्ज किए गए फर्जी मुकदमों को वापस लिए जाने की मांग की। धरने को डा. राजेश कोहली, तनु, इंजी. डी. पी. सिंह, सतीश कुमार चौटाला, अजय, अजय बौद्ध, ईसम सिंह, मा. जसवीर सिंह, कृष्ण कुमार ने भी सम्बोधित किया।

 
 

Related posts

Top