दो साल में एक लाख के पार जा सकता है चांदी का भाव, सोना फिर से 39 हजार पार

 

अगले दो सालों में चांदी की कीमत एक लाख रुपये प्रति किलोग्राम के पार जा सकती है। सराफा बाजार के विशेषज्ञों के मुताबिक चांदी की कीमत फिलहाल 50 हजार रुपये के करीब चल रही है। वहीं, शुक्रवार को सोना एक बार फिर से 39 हजार के पार चला गया। हालांकि चांदी की कीमतों में 110 रुपये की गिरावट देखने को मिली।

रुपये में कमजोरी और मजबूत अंतरराष्ट्रीय संकेतों से शुक्रवार को दिल्ली सराफा बाजार में सोना 210 रुपये महंगा होकर 39,075 रुपये प्रति 10 ग्राम के भाव रहा। वहीं, चांदी 110 रुपये कमजोर होकर 46,490 रुपये प्रति किलोग्राम के भाव पर रहा।

एचडीएफसी सिक्योरिटीज के वरिष्ठ विश्लेषक (कमोटिडी) तपन पटेल ने कहा कि आरबीआई की ओर से रेपो रेट में 25 आधार अंकों की कटौती से रुपये में नरमी और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कीमतों में तेजी से दिल्ली में 24 कैरेट की शुद्धता वाला सोना 210 रुपये महंगा हो गया।

पटेल ने कहा, ”अमेरिका में नॉन-मैन्यूफैक्चरिंग पीएमआई आंकड़ों के उम्मीद से कम रहने के कारण अर्थव्यवस्था के पटरी पर आने से जुड़ी चिंताओं के कारण अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सोने की कीमत में तेजी देखने को मिली। व्यापार वार्ता से जुड़ी चिंताओं, अर्थव्यवस्था के कमजोर आंकड़े और अमेरिका-ईयू व्यापार मामले में तनातनी की आशंका के कारण सोने में निवेश को सुरक्षित माना जा रहा है।”

गुरुवार को यह था भाव

गुरुवार को सोना 38,865 रुपये प्रति 10 ग्राम रहा, जबकि चांदी 46,600 रुपये प्रति किलोग्राम के भाव रही। न्यूयॉर्क में सोना 1,508 डॉलर प्रति औंस रहा, जबकि चांदी 17.58 डॉलर प्रति औंस पर रही।

चांदी में मिला अच्छा रिटर्न

ऐतिहासिक आंकड़ों से पता चलता है कि जब भी एक साल में चांदी ने शानदार रिटर्न दिया है।  इसकी चमक कम से कम दो साल जरूर बरकरार रही है। चांदी ने पिछले दो महीने में 12.5 फीसदी का रिटर्न दिया है। यही कारण है कि हमें फिर से चांदी में तेजी दिख रही है। अगले दो तीन साल में चांदी की कीमतें दोगुनी हो सकती हैं।
 
 

Related posts

Top