शिवसेना के साथ नहीं बनायेंगे सरकार, हमें विपक्ष में बैठने का जनादेश मिला: शरद पवार

 

मुंबई: महाराष्‍ट्र में शिवसेना के साथ तालमेल के कयासों पर विराम लगाते हुए राष्‍ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) प्रमुख शरद पवार ने कहा कि शिवसेना और एनसीपी के बीच सरकार बनाने का सवाल ही कहां है? बीजेपी और शिवसेना पिछले 25 सालों से एक साथ हैं. आज नहीं तो कल उनको फिर एक साथ आना ही है. जनता ने उनको ही सरकार बनाने का जनादेश दिया है. इसलिए उनको जल्‍द से जल्‍द सरकार बनानी चाहिए. हमको विपक्ष में बैठने का जनादेश मिला है.

शरद पवार से आज सुबह शिवसेना नेता संजय राउत ने फिर से मुलाकात की थी. उसके बाद से ही कयास लगाए जा रहे थे कि शिवसेना-एनसीपी 50-50 फॉर्मूले के तहत सरकार बनाएंगे. इस पर शरद पवार ने कहा कि संजय राउत से मुलाकात सकारात्‍मक रही. संजय राउत ने आगामी राज्‍यसभा सत्र को लेकर बातचीत की. हमने कुछ अन्‍य मुद्दों पर बात की जिन पर हमारे रुख समान हैं.

महाराष्‍ट्र में सरकार बनाने को लेकर किसी अन्‍य विकल्‍प की संभावना पर शरद पवार ने कहा कि मौजूदा हालात में केवल एक ही विकल्‍प है कि भाजपा और शिवसेना मिलकर सरकार बनाएं. राष्‍ट्रपति शासन से बचने के लिए केवल यही एकमात्र विकल्‍प है.

सिर्फ इतना ही नहीं महाराष्‍ट्र में बीजेपी की सरकार बनाने को लेकर शरद पवार ने बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह को चुनौती देते हुए कहा कि अमित शाह का कौशल कैसा है? ये महाराष्‍ट्र के सिलसिले में देखते हैं. दरअसल जब प्रेस कांफ्रेंस में शरद पवार से पूछा गया कि अमित शाह संख्या नहीं होने पर भी सरकार बनाने के लिए सिद्दहस्त हैं तो उस पर एनसीपी प्रमुख ने ये जवाब दिया.

देवेंद्र फडणवीस की बैठक
इस बीच सीएम देवेंद्र फडणवीस के नेतृत्व में मंत्रियों की बैठक हो रही है. बेमौसम बारिश के बाद किसानों को राहत पहुचाने के मुद्दे पर हो रही बैठक साथ ही सरकार गठन पर भी चर्चा होगी. बैठक के लिए बीजेपी मंत्रियों के अलावा शिवसेना कोटे के मंत्री भी पहुंचे हैं.

अहमद पटेल की नितिन गडकरी से मुलाकात
इससे पहले शिवसेना-एनसीपी गठबंधन के कयासों और कांग्रेस के इस गठबंधन को बाहर से समर्थन देने की चर्चाओं के बीच पार्टी के वरिष्‍ठ नेता अहमद पटेल ने दिल्‍ली में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से मुलाकात की. उसके बाद पटेल ने कहा, ”मैंने किसानों के मुद्दे पर उनसे बातचीत की. ये कोई राजनीतिक या महाराष्‍ट्र की सियासत पर बैठक नहीं थी.”

 

 
 
Top