Sayeed Salahudeen: कभी पाक सेना का था प्यारा, अब ISI के हमले में हुआ घायल

 

 

  • हिजबुल मुजाहिद्दीन सरगना सैयद सलाउद्दीन हमले में घायल, आईएसआई पर शक
  • पाक सेना और सलाउद्दीन के बीच आई थी अनबन की खबरें, बनाया था यूनाइटेज जिहाद काउंसिल
  • कश्मीर से लड़ चुका है विधानसभा चुनाव, हार के बाद बना आतंकी

इस्लामाबाद
पाक समर्थित आतंकवादी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन और यूनाइटेड जिहाद काउंसिल का सरगना सैयद सलाउद्दीन एक हमले में घायल हो गया है। कहा जा रहा है कि सलाउद्दीन के ऊपर यह हमला पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई ने करवाया है। हाल में ही सलाउद्दीन और पाकिस्तानी सेना के बीच मतभेद की खबरें भी आई थी।

विस्फोट में हुआ घायल
रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान के रावलपिंडी में सैयद सलाउद्दीन के ऑफिस के पास एक इमारत में गैस सिलेंडर में विस्फोट हो गया। इस विस्फोट के कारण सैयद सलाउद्दीन भी घायल हो गया। घायल सलाउद्दीन को इलाज के लिए सेना के ही एक अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

लड़ चुका है विधानसभा चुनाव
सलाउद्दीन का इस्तेमाल पाकिस्तानी सेना और आईएसआई सालों से भारत में आतंक फैलाने के लिए करती आई हैं। सैयद सलाउद्दीन का असली नाम सैयद मोहम्मद यूसुफ शाह है। वह 1987 में कश्मीर के अमीराकदल विधानसभा सीट से मुस्लिम मुताहिदा महज की तरफ से चुनाव लड़ा था। इस चुनाव में सलाउद्दीन बुरी तरह हार गया था। जिसके बाद वह आतंकवादी बन गया।

अमेरिका ने घोषित किया है वैश्विक आतंकी
1994 में सलाउद्दीन भारतीय सेना के हाथ से बचकर पाकिस्तान चला गया और वहां से ही आईएसआई के इशारों पर कश्मीर में आतंक फैलाने लगा। जून 2017 में अमेरिका ने सैयद सलाउद्दीन को वैश्विक आतंकी करार दिया था।

बनाई थी यूनाइटेड जिहाद काउंसिल
सैयद सलाउद्दीन ने घाटी में सेना के बढ़ने कदमों को रोकने के लिए कई आतंकी संगठनों को मिलाकर यूनाइटेड जिहाद काउंसिल का गठन किया था। जिसकी मदद से सलाउद्दीन ने कश्मीर में कई आतंकी हमले भी करवाए। लेकिन, बाद में उसके इस संगठन में फूट पड़ गई और कई आतंकी संगठनों ने नाता तोड़ लिया।

 
 

Related posts

Top