सहारनपुर: टूटा सब्र का बांध, सड़क पर उतरे प्रवासी मजदूर, हाईवे किया जाम, कई वाहनों के शीशे तोड़े

 

सहारनपुर में प्रवासी मजदूर रविवार सुबह बड़ी तादाद में सड़क पर उतर आए। इस दौरान मजदूरों ने अंबाला हाईवे जाम कर दिया और जमकर हंगामा किया। स्थानीय पुलिस पर सैकड़ों मजदूर भारी पड़े तो आरएएफ को मौके पर बुलाया गया। इस दौरान कुछ श्रमिकों ने वाहनों पर डंडों से प्रहार या। कई वाहनों के शीशे भी तोड़ दिए। इसके बाद मौके पर पहुंचे डीआईजी उपेंद्र कुमार ने किसी तरह श्रमिकों को शांत कराया। साथ ही बसें मंगवाने का आश्वासन दिया।

बता दें कि रविवार सुबह मजदूरों का सब्र टूट गया और सभी मजदूर शेल्टर होम से निकलकर अंबाला हाईवे पर आ गए। मजदूरों ने यहां जाम लगा दिया। हंगामा देख प्रशासन-पुलिस के हाथ पांव फूल गए। मौके पर डीआईजी उपेंद्र कुमार, एसएसपी दिनेश कुमार फोर्स के साथ पहुंचे। पुलिस अधिकारियों ने किसी तरह कामगारों को समझाने के बाद शांत किया।
श्रमिकों का कहना है कि उनके पास खाने-पीने के लिए न तो राशन है न ही उनके पास पैसे हैं। उनकी मांग है कि वे अपने घर जाना चाहते हैं। प्रशासन और सरकार से मांग कर रहे हैं कि किसी तरह उन्हें उनके राज्य बिहार भिजवा दिया जाए।

वहीं काफी देर चले हंगामा के बाद प्रशासन ने लगभग 46 बसों का इंतजाम किया। बताया गया कि ये सभी बसें इन श्रमिकों को गोरखपुर के रास्ते बिहार बॉर्डर तक छोड़ेंगी। इस दौरान परिवार वालों को प्राथमिकता दी गई।

उधर, जानकारी लगने पर कमिश्नर संजय कुमार भी मौके पर पहुंच गए। मजदूरों को समझाने की कोशिश की गई, लेकिन मजदूर बेहद गुस्से में हैं और इन्होंने हाईवे पर कब्जा कर लिया है। बसों का इंतजाम करने की बात पर ये किसी तरह शांत हुए।

वहीं गंभीर बात यह है कि इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग की भी धज्जियां उड़ गई। हजारों की भीड़ में इकट्ठा हुए लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना भूल गए।

जिलाधिकारी अखिलेश सिंह ने बताया कि अधिकतर मजदूर बिहार राज्य के हैं। ये सभी पैदल चलकर नदी के रास्ते यहां आए हुए थे। इन्होंने यहां से आगे बढ़ने का प्रयास किया तो प्रशासन ने इन्हें रोकर राधा स्वामी सत्संग व्यास में रखा गया था। प्रशासन ने इनके खाने-पीने की अच्छी व्यवस्था की हुई थी। साथ ही इन्हें ट्रेन से बिहार भेजने का लगातार प्रयास किया जा रहा था। लेकिन रविवार सुबह ये श्रमिक सड़क पर उतर आए और हंगामा किया।

उधर, बागपत जनपद में भी यूपी हरियाणा बॉर्डर पर प्रवासी मजदूरों ने जाम लगाया। श्रमिकों को निवाड़ा चौकी पर पुलिस ने रोक लिया था।

 

 
 

Related posts

Top